बिहार में कमजोर पड़ा कोरोना, 60 दिन बाद 1 हजार के नीचे कोविड केस

Smart News Team, Last updated: Fri, 4th Jun 2021, 11:14 PM IST
  • कोरोना की दूसरी प्रकोपी लहर अब बिहार में कमजोर पड़ने लगी है. राज्य में करीब 60 दिन बाद 24 घंटे में 1 हजार के नीचे कोविड केस रिकॉर्ड किए गए हैं. 
बिहार में एक दिन में 1 हजार से भी कम कोरोना केस रिकॉर्ड किए गए.

पटना. बिहार में चल रहे लॉकडाउन का असर सकारात्मक असर दिख रहा है. करीब 60 दिनों बाद बिहार में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या घटकर 1000 से भी कम आंकड़े पर आ पहुंचा है. शुक्रवार को पूरे प्रदेश भर में 991 नए कोवोड संक्रामित मरीज पाए गए हैं. बिहार स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के अनुसार विगत 24 घंटे में कुल 1,13,446 लोगों का सैंपल लिए गए. जिसमें 991 लोग कोवोड -19 से संक्रामित पाए गए. जिसमें से सर्वाधिक कोरोना के मरीज 143 पटना में मिले हैं. 

बिहार के 13 जिलों में 10से कम नए कोरोना संक्रामित मरीज मिले हैं. जबकि अन्य जिलों में 100से भी कम नए संक्रमितों की पहचान हुई है. अभी पूरे प्रदेश में कुल कोविड-19 एक्टिव केस की संख्या 10,308 है. स्वास्थ्य विभाग के अकड़ों के अनुसार अब तक बिहार में कुल 6,95,562 मरीज ठीक हो चुके हैं और कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 97.80 है. पटना के बाद समस्तीपुर में सार्वाधिक 55 केस दर्ज किए गए हैं. उसके बाद अररिया में 52 मरीज कोरोना संक्रमित हैं. वहीं पूर्णिया व शिवान में 51-51, मुजफ्फरपुर में कुल 47 कोरोना के केस मिले,

सुपौल में 46 केस दर्ज हुए हैं. वहीं नवादा और सारण जिले में 41,41 नए कोविड 19 से संक्रामित व्यक्ति मिले हैं. पूर्वी चंपारण में कुल 40 केस दर्ज हुए हैं. मधुबनी में 34, मुंगेर में 31, मधेपुरा में 28, किशनगंज में 27, सहरसा व कटिहार में 26-26 केस मिले हैं. खगड़िया में 25, दरभंगा व बेगूसराय में 23-23 नए कोरोना के मरीज मिले हैं.  

सोरेन सरकार का बकाया बिजली बिल पर बड़ा ऐलान, इन लोगों को दी राहत

वैशाली में 22, सीतामढ़ी में 20, गोपालगंज में 19, भागलपुर में 16, औरंगाबाद में 12, बक्सर और पश्चिमी चंपारण में 9-9, नालंदा में 8, जमुई में 8 और गया व कैमूर में 6-6 नए मरीज पाए गए हैं. रोहतास में 5, शेखपुरा में 4, शहोर में 3, बांका में 3 नए कोरोना मरीज की पहचान की गई है. वहीं जहानाबाद में सबसे कम मात्र 2 केस दर्ज किए गए हैं.

बिहार सरकार लॉकडाउन लगाकर लगातार कोरोना को रोकने की कोशिश कर रही है. हालांकि फिलहाल लॉकआउन में थोड़ी ढील दी गई है. सरकारी दफ्तर आधे से कम कर्मचारियों द्वारा चल रहा साथ ही पटना में अल्टरनेट में दुकानों को बांट कर खोला जा रहा है.वहीं पूरे बिहार में आठ जुन तक लॉकडाउन अगले आदेश तक घोषित है. 

यूपी-बिहार के लोगों को राहत! 6 जून से चलेंगी ये समर स्पेशल ट्रेनें, फुल डिटेल्स

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें