हवा में घुल रहा जहर, अस्पताल की लापरवाही से अब हवा से होंगे कोरोना संक्रमित! जानें कैसे

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 07:43 AM IST
  • कोरोना वायरस जांच किट को पटना सिविल सर्जन कार्यालय और जिला स्वास्थ्य समिति के बाहर खुले में फेंका गया है. जो हवाओं के कारण पुरे अस्पताल में फैल जाता है. जिससे वहां पहुंच रहे लोगो में संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाएगा.
हवा में घुल रहा जहर अस्पताल की लापरवाही से अब हवा से होंगे कोरोना संक्रमित! जानें कैसे

पटना. कोरोना संक्रमण के मरीज बढ़े है. वही कोविड को इतना फैलने का कारण इसका हवा स्प्रेड में होने की संभावना को बताया गया है. वही यह खतरा किसी और ने नहीं बल्कि स्वास्थ्य विभाग की तरफ से हुआ है. दरअसल इस समय तेजी से लोगों की कोरोना जांच की जा रही है. वही जांच करने के बाद उपयोग में किए गए किट को युही खुले में फेंक दिया जा रहा है. जिसका जीत जागता नजारा जिला स्वास्थ्य समिति और सिविल सर्जन कार्यालय के बाहर देखने को मिला. 

इन दोनों जगहों पर सुबह से ही कोरोना जांच की लम्बी कतार लग जाती है. जांच पूरी होने के बाद साफ सफाई पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता. जांच में रिपोर्ट नेगेटिव आए या फिर पॉजिटिव, सभी जांच किए हुए किट को खुले में फेंक दिया जाता है. वही ये किट दोपहर और शाम तक पूरे कैम्पस में गर्म और तेज हवाओं के कारण फैल जाती है. ऐसे में कोरोना का हवा में स्प्रेड होने का खतरा और भी बढ़ जाता है. वही कुछ विशेषज्ञ का कहना है कि इस दौरान ऐसे कई लोग कोरोना के शिकार हुए है जो किसी के भी सम्पर्क में आए ही नहीं थे. 

बिहार: पत्रकारों को पहले लगेगा कोरोना का टीका, मिला फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा

वही सरकार ने कोरोना मरीजों की जांच किट को फेकने के सम्बंध में गाइडलाइंस भी जारी की हुई है. जिसके अनुसार संक्रमितों के पास से निकले किसी भी समान को खुले में नहीं फेकना है. उस समान को एक प्लास्टिक के बैग मे सुरक्षित रखना है और फिर इसे इंसिनेटर की तेज भट्टी में इसे जला देना है, लेकिन सिविल सर्जन कार्यालय और जिला स्वास्थ्य समिति के पास कोरोना की इस गाइडलाइंस को पालन करते हुए स्वास्थ्य विभाग नहीं दिखाई दिया. वहां पर कोरोना जांच से लेकर उपचार में लाए गए समान को युही खुले में फेंक दिया जा रहा है. जो लोगों के लिए एक बड़ा खतरा हो सकता है.

बिहार: मई के लिए 16 लाख कोरोना टीकों का कोटा तय, स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें