पटना

फ्लाइट में टूट जा रहा 'सुरक्षा चक्र', उड़ रहीं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

Smart News Team, Last updated: 02/06/2020 09:15 PM IST
  • विमानों में भरकर पटना एयरपोर्ट पर पहुंच रहे यात्रियों का कहना है एयरपोर्ट प्रशासन से लेकर विमानन कंपनियां विमान में प्रवेश करने तक तो सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल कर रही हैं लेकिन विमान में प्रवेश करते ही नियम-कायदे का अता पता नहीं रह रहा है।
Flight

कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से काफी समय तक घरेलू विमानों पर लगी रोक बीते दिनों समाप्त कर दी गई और अब घरेलू परिचालन शुरू हो गया है। सरकार सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य मापदंडों के आधार पर घरेलू विमान सेवा को शुरू करने की इजाजत तो दे दी है, मगर विमान में घुसते ही सोशल डिस्टेंसिंग का नियम टूट जा रहा है। विभिन्न शहरों से पटना एयरपोर्ट पर आ रहे विमानों में सोशल डिस्टेंस टूट रहा है। विमानों के अधिकतर सीटों पर बुकिंग हो रही हैं और सीट पर बैठने के दौरान यात्रियों के कंधे एक दूसरे से सट रहे हैं ।

विमानों में भरकर पटना एयरपोर्ट पर पहुंच रहे यात्रियों का कहना है एयरपोर्ट प्रशासन से लेकर विमानन कंपनियां विमान में प्रवेश करने तक तो सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल कर रही हैं लेकिन विमान में प्रवेश करते ही नियम-कायदे का अता पता नहीं रह रहा है। मुम्बई से पटना आए यात्री राहुल ने कहा कि विमान के भीतर सोशल डिस्टेंसिंग का नियम ढाक के तीन पात हो जा रहा है। मुनाफे के चक्कर मे विमानन कम्पनियों ने सभी सीटों को बुकिंग के लिए खोल दिया है, जिससे यात्री विमान के भीतर चाहकर भी सोशल डिस्टेन्सिंग का नियम पालन नहीं कर रहे।

इसी तरह पटना एयरपोर्ट पर दिल्ली से आए रवींद्र चतुर्वेदी ने बताया कि इस लापरवाही से विमान के भीतर कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति से कोई कैसे बचेगा। यात्रियों ने कहा अगर विमानों में सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं करना है तो फिर एयरपोर्ट परिसर में यात्रियों को घंटों खड़े रहकर सामाजिक दूरी के नियम को सिखाया जा रहे हैं।

एयरपोर्ट परिसर में दो गज की दूरी हो रही थी मेंटेन

दरअसल पटना एयरपोर्ट पर टर्मिनल बिल्डिंग के मुख्य द्वार से लेकर विमान तक पहुंचाने में भारी सख्ती हो रही है। यात्रियों को इस दौरान काफी देर तक लाइन में खड़ा रहना पड़ रहा है। यात्रियों में इस बात को लेकर काफी नाराजगी है कि अगर सामाजिक दूरी के नियम को एयरपोर्ट परिसर में प्रभावी करना है तो विमानों के भीतर भी यह सख्ती रहनी चाहिए। यात्री प्रिया ने कहा कि टिकट चेक करने, सुरक्षा जांच और विमान तक ले जाने में अगर दो गज दूरी मेंटेन किया जा रहा तो विमान के भीतर क्यों नहीं। विमानन कंपनियों को बीच की सीटें खाली रखनी चाहिए जैसा विशेष विमानों में पिछले दिनों किया जा रहा था।

अन्य खबरें