पटना

कोरोना संकट से निपटने को रेलवे तैयार, पटना जंक्शन पर कई आसोलेशन कोच तैयार

Smart News Team, Last updated: 13/06/2020 10:33 AM IST
  • कोरोना से बचाव के लिए भारतीय रेल की ओर से देश भर में पांच हजार से अधिक आइसोलेशन कोच तैयार किया गया है। देश के तीन राज्यों में कोच को इस्तेमाल करने के लिए राज्य सरकारों ने मांग की है। इसमें नई दिल्ली, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश शामिल हैं।
पटना जंक्शन, राजेन्द्र नगर, दानापुर और पाटलिपुत्रा में तैयार खड़े हैं आइसोलेशन कोच

कोरोना वायरस का कहर पूरे देश में जारी है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि भारत में अभी कोरोना का पिक टाइम आना बाकी है। अगर ऐसा होता है तो स्थिति भयावह हो सकती है। मगर भारतीय रेलवे कोरोना जैसी आपदा से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार दिख रहा है। कोरोना से बचाव के लिए भारतीय रेल की ओर से देश भर में पांच हजार से अधिक आइसोलेशन कोच तैयार किया गया है। देश के तीन राज्यों में कोच को इस्तेमाल करने के लिए राज्य सरकारों ने मांग की है। इसमें नई दिल्ली, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश शामिल हैं। ऐसे में बिहार में भी कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर के रेलवे की ओर से तैयारी पूरी है। राज्य सरकार के अनुरोध पर इन कोच को तुरंत सेवा के लिए बहाल कर दिया जायेगा।

पटना में भी तैयारी पूरी

पटना में कोरोना के किसी भी तरह के संकट से निपटने के लिए तैयारी पूरी है। पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि दानापुर रेल मंडल के पटना जंक्शन, पाटलिपुत्रा जंक्शन, दानापुर और राजेंद्र नगर टर्मिनल जैसे प्रमुख स्टेशनों पर कोविड-19 के आइसोलेशन कोच पूरी तरह से तैयार हैं। दानापुर रेल मंडल के अलावा पूर्व मध्य रेल के सभी रेल मंडल में आइसोलेशन कोच पूरी तरीके से तैयार है।

बिहार ने मांग नहीं की

पूर्व मध्य रेल में सबसे पहले उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से दस आइसोलेशन कोच की मांग की गई है। उत्तर प्रदेश की ओर से पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल की ओर से तैयार किए गए कोच को उत्तर प्रदेश शासन को देने की तैयारी है। बिहार की ओर से अब तक इस संबंध में किसी प्रकार की कोई मांग नहीं आई है। लेकिन सीपीआरओ का कहना है कि राज्य सरकार की मांग के बाद तुरंत वे लोग आइसोलेशन कोच को देने की स्थिति में हैं। 

भारतीय रेलवे की ओर से कुल 5231 आइसोलेशन कोच को केयर सेंटर के रूप में तब्दील किया गया है। इनमें से देश के 158 स्टेशन पर कोच पूरी तरीके से इस्तेमाल के लिए तैयार किए गए हैं। रेलवे से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि बिहार में भी किसी प्रकार की कोविड से जुड़ी आपदा के लिए रेलवे तैयार है।

अन्य खबरें