बिहार ने बढ़ाया देश का गर्व, तैयार की पहली महिला कमांडो की शानदार फौज

Deepakshi Sharma, Last updated: Tue, 7th Sep 2021, 6:01 AM IST
  • बिहार देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है जहां पर महिला कमांडो की फौज तैयार की गई है. महिला सिपाहियों की ट्रेनिंग महाराष्ट्र के मुतखेड में सीआरपीएफ के सेंट्रल ट्रेनिंग सेंटर पर हो रही है. आतंकियों से मुकाबला करने के साथ-साथ इन्हें वीवीआईपी सुरक्षा को लेकर भी तैयार किया गया है. सीएम नीतीश कुमार की सुरक्षा में लगी एसएसजी में भी इन महिला कमांडो को जिम्मेदारी दी जाएगी.
बिहार ने तैयारी की देश की पहली महिला कमांडो की फौज

पटना. हमारे देश की महिलाएं अब नक्सलियों और आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दे रही है. वही, बिहार देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जहां पर महिला कमांडो की टीम तैयार की गई है. महाराष्ट्र से जल्द ही ट्रेनिंग लेकर महिला सिपाही राज्य में लौटेंगी. आतंकियों से मुकाबला करने के साथ-साथ इन्हें वीवीआईपी सुरक्षा को लेकर भी तैयार किया गया है. सीएम नीतीश कुमार की सुरक्षा में लगी एसएसजी में भी इन महिला कमांडो को जिम्मेदारी दी जाएगी. महिलाएं उन मोर्चे पर सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालती नजर आएंगी जहां पर कुछ ही चुने गए फोर्स की तैनाती होती है. इन सभी को आतंकवाद निरोधक दस्ता, विशेष टास्क फोर्स और स्पेशल सिक्यूरिची ग्रुप में नियुक्त किया जाएगा. महिला कमांडो न सिर्फ बड़े अभियानों का हिस्सा बनती हुई नजर आएंगी बल्कि सीएम की भी सुरक्षा करती दिखेंगी. उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी एसएसजी के हाथ होती है.

महाराष्ट्र के इस सेंटर में लेंगी ट्रेनिंग

महाराष्ट्र के मुतखेड में सीआरपीएफ का सेंट्रल ट्रेनिंग सेंटर है. वहां पर ही महिला सिपाहियों को भेजा गया है. उन्हें वहां पर हर परिस्थितियों का मुकाबला करना सिखाया जाएगा. बड़े हमले को असफल करने से लेकर बड़े से लेकर छोटे हथियारों को चलाने के लिए ट्रेनिंग तक दी जाएगी.

जातीय जनगणना को लेकर CM नीतीश बोले- अभी PM मोदी की ओर से नहीं मिला कोई जवाब

बिहार में मिल चुकी है पहले ही ट्रेनिंग

आपको बता दें कि महिला सिपाहियों को सीआरपीएफ सेंटर में भेजने से पहले ही बिहार में इन सभी की प्री कंडिशनिंग ट्रेनिंग तक हो चुकी है. इन सभी को पटना में मौजूद बीएमपी-5 और जमालपुर में तैयार करने के बाद भेजा गया है. वही, बीएमपी की डीआईजी गरिमा मल्लिक और कमांडेंट सुशील कुमार जल्द ही मुतखेड जानेवाले हैं. इसके बाद ही महिला कमांडो बिहार आएंगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें