सॉल्वर गैंग के सरगना नीलेश कुमार की तस्वीर जारी, संभावित कई ठिकानों पर छापेमारी

ABHINAV AZAD, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 11:28 AM IST
  • आरोपी नीलेश कुमार पटना के पाटलीपुत्र स्थित बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने अपनी फैमिली के साथ रहता था. पुलिस को आशंका है कि वह बिहार से फरार हो चुका है. पुलिस अब त्रिपुरा, कोलकाता, बंगलुरु समेत देश भर के अन्य संभावित ठिकानों पर आरोपी को तलाश रही है.
सॉल्वर गैंग का सरगना नीलेश कुमार पटना के पाटलीपुत्र स्थित बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने अपनी फैमिली के साथ रहता था.

पटना. NEET परीक्षा के जरिए फर्जी डॉक्टर तैयार करने वाले सॉल्वर गैंग के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. बिहार के छपरा के सेंधवा निवासी पीके उर्फ नीलेश कुमार भी अब जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होगा. आरोपी नीलेश कुमार पटना के पाटलीपुत्र स्थित बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने अपनी फैमिली के साथ रहता था. पुलिस को आशंका है कि वह बिहार से फरार हो चुका है. पुलिस अब त्रिपुरा, कोलकाता, बंगलुरु समेत देश भर के अन्य संभावित ठिकानों पर आरोपी को तलाश रही है. इसके लिए क्राइम ब्रांच ने त्रिपुरा पुलिस से संपर्क साधा है.

शनिवार को सॉल्वर गैंग के दो और सदस्यों को वाराणसी पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया. गिरफ्तार आरोपियों में बिहार के खगड़िया के सिमरी निवासी विकास कुमार महतो और दूसरा फोटोशॉप के जरिये एडमिट कार्ड की तस्वीर एडिट करने वाला बिहार के जहानाबाद के काकू थाने के चंदवारा निवासी राजू कुमार शामिल है. शातिर विकास कुमार महतो दूसरे साल्वर गैंग का सरगना है. वह इस पूरे सिंडिकेट के सरगना पीके को कैंडिडेट उपलब्ध कराता था. पुलिस को उसके जरिये ही मास्टर माइंड पीके की तस्वीर हाथ लगी.

पिता रामविलास पासवान को भारत रत्न दिए जाने की अनुशंसा के लिए चिराग ने नीतीश कुमार को लिखी चिट्ठी

मिली जानकारी के मुताबिक, पीके सॉल्वर गैंग बनाकर फर्जी डॉक्टरी के छात्र तैयार कराने के एवज में 25-25 लाख रुपये तक वसूलता था. पीके उर्फ नीलेश कुमार पाटलीपुत्र स्थित बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने परिवार के साथ रहता था. वह कॉलोनी में सभी से खुद को डॉक्टर बताता था. शनिवार को वहां से लौटी क्राइम ब्रांच की टीम ने कॉलोनी के लोगों से उसके बारे में पूछताछ की थी. लोगों ने बताया कि वह अक्सर लग्जरी कार से आता था. यहां कॉलोनी के अलावा होटलों में पार्टियां भी करता था. वह महंगी कार और आलीशान जीवन जीने का शौकीन है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें