साइबर क्रिमिनल ने पटना में बैठकर दिल्ली के कोविड मरीजों से 16.60 लाख ठगे, अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 10:06 AM IST
  • कोरोना काल में लोगों को रेमडिसिवर और ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने के नाम पर लाखों रुपये की ठगी करने वाले विजय बेनेडिक्ट को दिल्ली पुलिस और बिहार की ईओयू टीम ने गिरफ्तार कर लिया है. विजय ने लोगों से साइबर ठगी करके अब तक 16.60 लाख रुपये लूटे है.
रेमडेसिविर और ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के नाम पर लोगों को ठगने वाला साइबर क्रिमिनल अरेस्ट ( सांकेतिक फोटो )

पटना. कोरोना काल में लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर लाखों रुपये की ठगी करने वाले साइबर क्रिमिनल विजय बेनेडिक्ट को गिरफ्तार कर लिया गया है. विजय ने पटना में रहकर दिल्ली के लोगों से ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमडिसिवर दवा के नाम पर अब तक 16.60 लाख रुपये लूटे है. दिल्ली पुलिस की टीम और बिहार की आर्थिक अपराध शाखा यानी इओयू ने संयुक्त रूप से विजय को दानापुर तकियापर इलाके के गौटाल स्थित घर से छापेमारी कर अरेस्ट किया है. पुलिस को इस साइबर अपराधी के पास से कोटक महिंद्रा बैंक अकाउंट का पासबुक, एटीएम समेत कई जरूरी कामजात मिले है.

विजय बेनेडिक्ट दीघा के आइआइटी रोड स्थित मरियम टोले का रहने वाला है. वह रेमडेसिविर दवा और ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के नाम पर सोशल साइट्स पर फर्जी पोस्ट डालने के साथ ही फोन कॉल के माध्यम से लोगों से बात करके उन्हें फंसाता था. 23 अप्रैल को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने विजय के खिलाफ केस दर्ज किया था. कोविड की दूसरी लहर के दौरान कोरोना पीड़ितों की मदद के करने के नाम पर ठगी करने के कई मामले सामने आएं हैं. जिसमें से बिहार के कई साइबर फ्रॉडों ने दिल्ली के लोगों को ठगा है.

बिहार में कोई न रहे भूखा, जिलों में बढ़ाई जाएं सामुदायिक रसोई: नीतीश कुमार

साइबर क्रिमनल्स की बिहार से लीड मिलने के बाद एक सप्ताह से दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम बिहार में कैंप कर इओयू के साथ साइबर फ्रॉड को पकड़ने के लिए कार्रवाई कर रही है. इस टीम के हाथ अब तक कई सफलताएं लगी हैं. 9 मई को दानापुर से ही दिल्ली पुलिस व इओयू की टीम ने ऑक्सीजन और रेमडेसिविर के नाम पर साइबर ठगी करने वाले दो आरोपितों को गिरफ्तार किया था. इसके साथ ही पूछताछ में कई अन्य साइबर ठगों के बारे में जानकारी मिली है. इन साइबर क्रिमिनलों को पकड़ने के लिए एडीजी नैयर हसनैन खान के निर्देश पर एएसपी विश्वजीत दयाल की अगुवाई में 8 लोगों की स्पेशल टीम कार्य कर रही है.

पटना HC की गंगा में मिली लाशों के मामले पर सख्ती, मार्च से अब तक का ब्यौरा मांगा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें