DBGB Stirke: 17 दिसंबर को दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक में कर्मचारियों की हड़ताल, जानें

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Mon, 15th Nov 2021, 12:06 AM IST
  • दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक कर्मीयों ने DBGB की सभी शाखाओं व कार्यालयों में कर्मियों की तैनाती, कम्प्यूटर हार्डवेयर व अन्य उपकरण, सरप्राइज छुट्टी समेत कई बुनियादी सुविधाओं की मांग की है. साथ ही DBGB कर्मी व आफिसर्स एसोसिएशन के बैनर तले इसके लिए 17 दिसंबर को सामूहिक हड़ताल करने का ऐलान भी किया है.
दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक

पटना. दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक की शाखाओं को सुचारू ढंग से चलाने के लिए आवश्यक बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर बैंककर्मीयों व आफिसरों ने 17 दिसंबर को सामूहिक हड़ताल करने का फैसला किया है. इससे पहले वे सभी प्रधान कार्यालय पर 4 दिसंबर को धरना भी देंगें. हड़ताल व धरना दोनों दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक इम्पलाइज व ऑफिसर्स एसोसिएशन के बैनर तले आयोजित किया जाएगा. इसकी जानकारी रविवार को DBGB ऑफिसर्स एसोसिएशन अध्यक्ष रणवीर आनंद ने विज्ञप्ति के जरिए दी है.

दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन अध्यक्ष रणवीर आनंद ने कहा है कि उच्च प्रबंधन की गलत नीतियों के चलते पिछले 2 सालों से बैंक घाटे में चल रहा है.और बैंक शाखाओं को समय से स्टेशनरी व आधारभूत सुविधाएं भी नहीं मुहैया करायी जाती हैं. कई शाखाओं को सुचारू रुप से चलाने के लिए कंप्यूटर तक नहीं है तो कई शाखाओं में कम्प्यूटर UPS सालों से खराब रखा है. ऐसे में बैंक द्वारा ग्राहकों को जरूरी सेवाएं नहीं मिल पा रही हैं. और तो और अनजाने में बैंककर्मियों से हुई गलतियों के लिए उन्हें प्रताड़ित किया जाता रहा है. कई बार उच्च प्रबंधन की लापरवाही व पारदर्शिता में कमी के चलते बैंक में पिछले कुछ सालों से फ्रॉड के मामले भी सामने आए हैं.

बिहार में महाजंगलराज, नीतीश सरकार की प्रशासनिक अराजकता से बढ़ा भ्रष्टाचार: तेजस्वी

DBGB बैंक कर्मी व आफिसर्स एसोसिएशन की ओर से बैंक के सभी शाखाओं व कार्यालयों में हार्डवेयर व अन्य उपकरण उपलब्ध कराने की मांग की जा रही है. इसके आलावा शाखाओं में जरूरत के हिसाब से बैंक कर्मियों की तैनाती, सरप्राइज छुट्टी, द्विपक्षीय समझौते के तहत पार्ट B की सुविधा लागू करने, अन्य बैंक से आए स्केल 4 के अधिकारियों को तत्काल वापस करने व साथ ही उनके स्थान पर खुद के बैंककर्मियों की तैनाती करने समेत कई बुनियादी मांगों को लेकर हड़ताल करने का फैसला किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें