पटनाः दो प्राइवेट अस्पतालों में जिला प्रशासन टीम की छापेमारी, पाई गई भारी गड़बड़ी

Smart News Team, Last updated: Sun, 16th May 2021, 11:46 PM IST
  • पटना की जिला प्रशासन की ओर से गठित की गई टीम ने दो निजी अस्पतालों में छापा मारा. एक प्राइवेट अस्पताल में मरीजों से ज्यादा पैसे लिए जा रहे हैं. वहीं दूसरे अस्पताल में छापेमारी दल ने कागजों को जब्त कर लिया है.
जिला प्रशासन की ओर से गठित टीम ने पटना के दो प्राइवेट अस्पतालों मे छापा मारा. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. कोरोना के संकट के बीच बिहार की राजधानी पटना में रविवार को जिला प्रशासन की गठित टीम ने दो प्राइवेट अस्पतालों में छापेमारी की है. अनिसाबाद के निजी अस्पताल में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है. इस प्राइवेट अस्पताल में मरीजों ने तय दर से ज्यादा पैसा लिया जा रहा है. इसके अलावा जिला प्रशासन टीम ने हनुमान नगर के प्राइवेट अस्पताल में रेड मारी.

मिली जानकारी के अनुसार, जिला प्रशासन की टीम ने गुप्ता सूचना मिलने पर हनुमान नगर के निजी अस्पताल में छापा मारा. छापेमारी में जिला प्रशासन टीम ने अस्पताल के कई कागजातों को जब्त कर लिया. जिला प्रशासन की छापेमारी दल सोमवार को फिर से दोनों निजी अस्पतालों में जाएगी और कागजों को जांच करेगी.

राहत: बिहार में घट रहे कोरोना के नए केस, जानें पटना समेत पूरा हाल

लॉकडाउन के बाद बिहार में कोरोना वायरस के केसों में कमी दर्ज की गई है. बिहार में रविवार को कोविड के 6 हजार 894 नए मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे में बिहार में 1 लाख 20 हजार 271 कोरोना सैंपलों की जांच की गई है. जिसमें राजधानी पटना में सबसे ज्यादा 1 हजार 103 कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है. 

पटना में कोरोना संक्रमित को अस्पताल बुलाकर भी नहीं किया भर्ती, एंबुलेंस में ही मौत

इससे पहले शनिवार को बिहार में कोरोना वायरस के 1 लाख 10 हजार 172 सैंपलों की जांच की गई. शनिवार को प्रदेश में 7 हजार 336 कोविड के नए मामले सामने आए हैं. वहीं 14 हजार 340 लोग कोरोना से पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. इसके अलावा 73 लोगों की इस वायरस से मौत हो चुकी है. शनिवार के आंकड़ों के अनुसार, बिहार में कोरोना का रिकवरी रेट 86.6 प्रतिशत है और एक्टिव रेट 12.8 फीसदी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें