आमजन पर दोहरी महंगाई की मार, पेट्रोल-डीजल के बाद 25 रुपए महंगा घरेलू गैस सिलेंडर

Smart News Team, Last updated: Tue, 17th Aug 2021, 12:28 PM IST
  • घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में आज सुबह सरकार ने 25 रुपए इजाफा कर दिया. सरकार द्वारा मार्च से लेकर अभी तक 50 रुपए से अधिक घरेलू सिलेंडर के दाम बढ़ाए जा चुके हैं और सिर्फ 10 रुपए ही घटाए गए हैं. कोरोना काल में सभी वस्तुओं के दाम में इस तरह की बढ़ोत्तरी आम आदमी के जेब काफी खाली करेगी.
सरकार ने मंगलवार को घरेलू सिलेंडर के दाम 25 रुपए बढ़ा दिए हैं. वहीं, कॉमर्शियल सिलेंडर के दामों में 4.50 रुपए की मामूली गिरावट हुई है

पटना. कोरोना काल के बाद बेरोजगारी की मार झेल रहे लोगों पर महंगाई की दोहरी मार पड़ रही है. पेट्रोल डीजल के दाम के साथ अब गैस सिलेंडर के दाम भी आसमान छूने लगे हैं. सरकार ने मंगलवार को घरेलू सिलेंडर के दाम 25 रुपए बढ़ा दिए हैं. वहीं, कॉमर्शियल सिलेंडर के दामों में 4.50 रुपए की मामूली गिरावट हुई है. अब घरेलू रसोई गैस सिलेंडर (14.2किलो) 25 रुपए बढ़ने के बाद 897.50 रुपए में मिलेगा, जिसकी अभी तक कीमत 872.50 रुपए थी. वहीं, कमर्शियल गैस सिलेंडर (19किलो) में 4.50 रुपए कम होने के बाद 1718 रुपए में मिलेगा, जिसकी कीमत अभी तक 1722.50 रुपए थी. यह कीमतें मंगलवार सुबह से लागू हो गई हैं. इससे पहले सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती से मना कर दिया था.

मार्च से अब तक बढ़े 50 रुपए, घटे 10

इससे पहले भी 1 जुलाई को 25.50 रुपए रेट बढ़ाए गए थे. मार्च से लेकर अब तक तीन बार में 50 रुपए और दो बार 25-25 रुपए बढ़ा दिए गए हैं, जबकि सिर्फ एक बार ही अप्रैल में 10 रुपए घटाए गए थे. वहीं, दिसंबर से लेकर अब तक करीब पौने 3 सौ रुपए सिलेंडर के रेट बढ़ चुके हैं. सरकार एक साल में घरेलू सिलेंडर में 12 सिलेंडरों पर सब्सिडी देती है. उपभोक्ता को पहले सब्सिडी सहित पूरी कीमत देनी होती है, सब्सिडी बाद में उसके खाते में आती है. अभी खाते में कितनी सब्सिडी पहुंचेगी यह तय नहीं है.

बिहार में किताब के लिए सवा करोड़ बच्चों के खातों में पैसे भेजेगी सरकार, फुल डिटेल

इस समय इन दरों के लागू होने के बाद राजधानी पटना में घरेलू सिलेंडर 897.50 रुपए, कमर्शियल सिलेंडर (19 किलो) 1718 रुपए और छोटा सिलेंडर (05 किलो) 330 रुपए की कीमत के साथ मिलेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें