Tender Controversy: बहू को हर घर नल का जल के ठेके से घिरे तारकिशोर नीतीश से मिलने सीएम हाउस पहुंचे

Atul Gupta, Last updated: Thu, 23rd Sep 2021, 6:44 PM IST
  • Tender Controversy: हर घर नल का जल योजना का टेंडर बहू और रिश्तेदारों को मिलने की खबर के बाद गुरुवार को डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद की सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात हुई. खनन विभाग की समीक्षा बैठक में हिस्सा लेने सीएम आवास आए तारकिशोर प्रसाद ने नीतीश कुमार से अकेले में भी बात की.
सीएम हाउस में खनन विभाग की समीक्षा बैठक में सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद

Tender Controversy: बहू और रिश्तेदारों को हर घर नल का जल योजना (Har Ghar Nal Ka Jal) के तहत 53 करोड़ का ठेका मिलने से उठे विवाद के बाद पहली बार डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) सीएम नीतीश कुमार (Nitish kumar) से मिले. खनन विभाग की समीक्षा बैठक में शामिल होने सीएम हाउस पहुंचे डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने अकेले में सीएम नीतीश कुमार से बात भी की. दोनों नेताओं के बीच अकेले में क्या बात हुई ये फिलहाल स्पष्ट नहीं है.

गौरतलब है कि बुधवार को अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस ने खबर छापी थी कि सीएम नीतीश कुमार की महत्वकांक्षी योजना हर घर नल का जल के ठेके बीजेपी और जेडीयू नेताओं और उनके परिजनों को मिले हैं. इनमें सबसे बड़ा नाम बीजेपी विधायक दल के नेता और बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद का आया. डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद की बहू पूजा कुमार और दो साले प्रदीप कुमार भगत की कंपनी को 53 करोड़ रूपये का कॉन्ट्रेक्ट मिला. पूजा कुमारी की कंपनी को इस फील्ड का कोई अनुभव नहीं है, फिर भी उनकी कंपनी को इतना बड़ा कॉन्ट्रेक्ट दिया गया.

इस बाबत जब डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद से सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि बिजनेस करने में कुछ गलत तो नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि कटिहार में कुल 2800 यूनिट है और उनके परिवार के सदस्यों को सिर्फ चार यूनिट मिली है. यही नहीं, उन्होंने ये भी कहा कि जब ये कॉन्ट्रेक्ट दिया गया उस वक्त वो डिप्टी सीएम नहीं बल्कि कटिहार से विधायक थे. इस पूरे विवाद को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) ने हमला बोलते हुए कहा कि एनडीए सरकार में सिर्फ एक ही काम हो रहा है और वो है जनता की गाढ़ी कमाई को लूटने का काम. उन्होंने आगे कहा कि कटिहार जिले में जिस तरह से 53 करोड़ रुपए के नल जल योजना का टेंडर उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के परिजनों को मिला, इससे साफ पता चलता है कि सरकार भ्रष्टाचार के लिए ही बनी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें