पटना

बिहार में चुनाव की तैयारियों में जुटा आयोग, 15 जून से जुलाई तक वोटर लिस्ट रिवीजन

Smart News Team, Last updated: 03/06/2020 09:32 PM IST
  • बिहार में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में चुनाव आयोग जुट गया है। मध्य जून से जुलाई तक वोटर लिस्ट का समरी रिवीजन चलेगा जिसके बाद अगस्त में अंतिम वोटर लिस्ट का प्रकाशन होगा।
7 जून को बिहार में बीजेपी की तरफ से गृहमंत्री अमित शाह की वर्चुअल रैली है जबकि सीएम नीतीश कुमार जेडीयू के बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं से वीडियो कॉलिंग मीटिंग शुरू करेंगे।

पटना. बिहार के निर्वाचन अधिकारी अक्टूबर-नवंबर में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। कोरोना लॉकडाउन के कारण चुनावी गतिविधियां रुकी हुई थीं जो जून महीने के तीसरे सप्ताह से तेज हो सकती है। चुनाव अधिकारियों ने संकेत दिया है कि मध्य जून से मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम शुरू हो जाएगा जो हर चुनाव से पहले वोटर लिस्ट को अपडेट करने के लिए किया जाता है।

निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि 15 जून से वोटर लिस्ट स्पेशल समरी रिवीजन काम शुरू हो जाएगा जो जुलाई तक चलेगा। इस प्रक्रिया के जरिए छूटे हुए योग्य मतदाताओं का नाम वोटर लिस्ट में जोड़ा जाता है और उस पर सुझाव और आपत्ति भी दर्ज की जाती है। इस प्रक्रिया के पूरे होने के बाद अगस्त में अंतिम वोटर लिस्ट का प्रकाशन होने की संभावना है।

बिहार में 7 जून को BJP, JDU और RJD के इस चुनावी महासंग्राम का पहला दिन

बिहार के मुख्य चुनाव अधिकारी एचआर श्रीनिवास ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अंतिम फैसला चुनाव आयोग करेगा लेकिन हमने अपनी तरफ से तैयारियां शुरू कर दी हैं क्योंकि चार महीने बाद चुनाव होना है। मंगलवार को सीईओ श्रीनिवास ने बिहार के सभी डीएम और एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस मीटिंग की। बैठक में जिला प्रशासन से सभी बूथों का भौतिक सत्यापन करने कहा गया है ताकि मॉनसून और बाढ़ से पहले इसकी लिस्ट बन जाए। राज्य के 243 विधानसभा क्षेत्रों में कुल 72723 मतदान केंद्र हैं।

6 दिन, 38 जिले.. 7 जून से JDU का चुनावी शंखनाद, नीतीश की वर्चुअल रैली का शेड्यूल

बिहार में कुल 7.18 करोड़ वोटर रजिस्टर्ड हैं जिनमें 3.79 करोड़ पुरुष और 3.39 करोड़ महिलाएं हैं। चुनाव अधिकारियों का कहना है कि इस बार के चुनाव में कोरोना की वजह से रैली, प्रचार और वोटिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए मानक तय किए जा सकते हैं।

अन्य खबरें