बिहार में नियोजित शिक्षकों से ऐच्छिक तबादले के लिए जल्द मांगे जा सकते हैं आवेदन

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 2:24 PM IST
  • बिहार में नियोजित शिक्षकों को पूरे सेवाकाल में एक बार मनचाही जगह पर ट्रांसफर मिलने की मांग काफी समय से उठ रही थी. अब उनकी यह इच्छा जल्द ही पूरी हो सकती है.
बिहार के नियोजित शिक्षकों के ऐच्छिक तबादले का फॉर्मूला तैयार.

पटना. बिहार में नियोजित शिक्षकों के ऐच्छिक ट्रांसफर के लिए नया फॉर्मूला तैयार किया गया है. इस फॉर्मूले के अनुसार 2006 से जो शिक्षक अपनी पसंदीदा जगह पर ट्रांसफर लेने की कोशिश कर रहे हैं उनकी इच्छा कुछ महीनों में पूरी हो सकती है. शिक्षकों के ट्रांसफर को लेकर गिरिवर दयाल सिंह की अध्यक्षता में अंतर्विभागीय कमेटी और इस कमेटी का सहयोग करने के लिए उप कमेटी बनाई गई है. दो हफ्ते में हो सकता है कि नियोजित शिक्षकों को मनपसंद ट्रांसफर को लेकर गाइडलाइन जारी हो जाए.

ट्रांसफर के नए फॉर्मूले के साथ पूरी ट्रांसफर पोस्टिंग की प्रक्रिया एनआईसी पटना सॉफ्टवेयर के जरिए करेगी. यह प्रक्रिया आवेदन जमा करने से लेकर ट्रांसफर होने तक ऑनलाइन होगी. आवेदन शुरू करने से पहले हर जिले से रिक्तियों की डिटेल मांगी जाएगी. इसी के साथ ट्रांसफर में महिला और दिव्यांग शिक्षकों को प्राथमिकता दी जाएगी. 

युवाओं को नौकरी देने के मुद्दे पर तेजस्‍वी यादव का बिहार सरकार पर बड़ा हमला

पुरुष शिक्षकों को म्युचुअल ट्रांसफर का मौका दिया जाएगा. मिली जानकारी के अनुसार करीब साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षकों में से करीब पौने दो लाख शिक्षकों को मनचाही पोस्टिंग मिल सकती है. महिला और दिव्यांग शिक्षकों के लिए दो-तीन जगहों का ऑप्शन मांगा जाएगा. 

नशे में धुत हंगामा कर रहा युवक गिरफ्तार, अब अपनी ही जान बचाने को भाग रही पुलिस

जानकारी के लिए बता दें कि नियोजित शिक्षकों को अंतर्जिला और दूसरे नियोजन इकाई में सेवाकाल में एक बार ट्रांसफर लेने की मांग काफी समय से उठ रही थी. जिसपर 18 अगस्त 2020 को मंत्रिमंडल ने मुहर लगाई थी. इसे 1 अप्रैल 2021 से 15 प्रतिशत वेतन में वृद्धि के साथ लागू किया जाना था लेकिन चुनाव के कारण ट्रांसफर के फॉर्मूले का काम आगे नहीं बढ़ पाया था. 

रूपेश हत्याकांड के चौथे आरोपी की तलाश में पुलिस ने की छापेमारी,संपत्ति होगी जब्त 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें