निलंबित डीएसपी तनवीर अहमद की बढ़ी मुश्किलें, प्रशासन ने की अब ये बड़ी कार्रवाई

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 3rd Sep 2021, 11:27 AM IST
  • बालू माफिया से संबंध और आय से अधिक संपत्ति मामले में संस्पेड डीएसपी तनवीर अहमद के कई ठिकानों में आर्थिक अपराध इकाई (EOU) ने छापेमारी की. छापेमारी के बाद संपत्ति का आंकलन कर ईओयू की टीम ने फाइनल रिपोर्ट सौंप दी. बालू अवैध खनन मामले में ईओयू की रिपोर्ट के आधार पर 41 अफसरों को संस्पेंड किया गया है.
निलंबित डीएसपी तनवीर अहमद की बढ़ी मुश्किलें, प्रशासन ने की अब ये बड़ी कार्रवाई

पटना.अवैध बालू खनन मामले में पालीगंज के डीएसपी रहे तनवीर अहमद की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. निलंबन के बाद अब ईओयू ने उनके कई ठिकानों में तड़के सुबह छापेमारी की. इस दौरान उनके पैतृक आवास और पटना स्थित आवास में छापेमारी की. जिसके बाद आर्थिक अपराध शाखा (ईओयू) ने सभी तरह की संपत्ति का आंकलन कर इसकी फाइनल रिपोर्ट ईओयू के अधिकारियों को सौंप दी है.

ईओयू ने एफआईआर दर्ज होने के बाद की कार्रवाई

निलंबित डीएसपी तनवीर अहमद के आय से अधिक संपत्ति मामले में ईओयू ने एफआईआर दर्ज की थी. इस मामले में कोर्ट से सर्च वारंट मिलने के बाद ईओयू की टीम ने तनवीर के ठिकानों में छापेमारी की. इसमें बेतिया के मैनाटांड़ प्रखंड के पिड़ारी स्थित पैतृक आवास और पटना के शास्त्री नगर स्थित आशियाना रोड पर आवास में छापेमारी की गई. जानकारी अनुसार, इस छापेमारी में टीम को कई ठोस सबूत मिले हैं.

बिहार में 21 IAS का ट्रांसफर, DDC व SDO रैंक अफसरों का भी तबादला, 87 बाबू बदले

बालू अवैध खनने मामले में 41 अफसर हुए निलंबित

बालू अवैध खनन मामले में ईओयू की रिपोर्ट के आधार पर 41 अफसरों को निलंबित किया जा चुका है. जिसमें जुलाई 2021 को तनवीर अहमद को पद से हटाया था. साथ ही इस मामले में निलंबित सभी अफसरों की संपत्ति की जांच शुरू हो गई है. इस मामले में सबसे पहले डेहरी के निलंबित एसडीओ सुनील कुमार सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उनके ठिकानों में छापेमारी की गई. जिसमें, करीब सवा करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति की जानकारी हुई थी.

पटना AIIMS में एडमिट हुए बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल, स्टीवेंस जॉन्सन सिंड्रोम से हैं ग्रसित

विभाग ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

निलंबन के बाद आय से अधिक संपत्ति मामले में फंसने के बाद निलंबित डीएसपी तनवीर अहमद से उनके विभाग ने कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. उन्होंने अभी तक कोई जवाब दाखिल नहीं किया, हालांकि उन्हें जवाब देने के लिए 15 दिन का समय दिया गया है. इनके साथ ही दो एसपी, चार एडीपीओ, 6 खनन अधिकारी, 6 सीओ, तीन एमवीआई और दो डीटीओ को निलंबित करने के साथ उन्हें भी जवाब मांगा गया है. वहीं, इस मामले में 14 दारोगा और 4 इंस्पेक्टरों को भी रेंज से बाहर किया दया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें