पटना: कोरोना संक्रमित मरीज को अस्पताल में छोड़ भागे परिजन, तलाश जारी

Smart News Team, Last updated: Wed, 18th Nov 2020, 12:26 AM IST
  • पटना के आईजीआईएमएस अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजो को छेड़कर परिजन अस्पताल से चले गये है. मरीजो को 10 नवंबर को अस्पताल में भर्ती कराया था. अस्पताल प्रंबधन परिजनो से सम्पर्क करने के लगातार कोशिश कर रहा है. 
कोरोना सक्रमित मरीजों को अस्पताल में छोड़कर परिजन भाग गये है.

पटना: प्रदेश के आईजीआईएमएस अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीज को उसके परिजन छोड़कर भाग गए हैं. मरीज पिछले सात दिनों से अस्पताल में भर्ती है. आईजीआईएमएस के डॉक्टर लगातार उसका इलाज कर रहे हैं. अस्पताल प्रशासन मरीज के परिजनों के खोजने का प्रयास कर रहा है. परन्तु अभी तक किसी भी परिजन से सम्पर्क नही हो पा रहा है. डॉक्टर के अनुसार मरीज की हालत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है.

अस्पताल अधीक्षक डॉ मनीष मंडल ने बताया कि एक मरीज आईसीयू में भर्ती है. मरीज का नाम चंदन कुमार बताया जा रहा है. 10 नवंबर को बीमार होने पर वह जेनरल मेडिसिन विभाग में एडमिट हुआ था. उसका कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया. तो 11 नवंबर को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी. उसकी हालत खराब होने के कारण उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया. मरीज के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उसके साथ आये सभी परिजन वहा से भाग गये. वही डॉक्टर के अनुसार उसकी हालत में लगातार सुधार हो रहा है.

रेप में नाकाम होने पर लड़की को जिंदा जलाया, केस दर्ज न करने पर SHO सस्पेंड

 

आईजीआईएमएस के प्रंबधन ने बताया है कि जब तक मरीज की कोरोना रिपोर्ट नही आयी थी तभी तक सभी परिजन अस्पताल परिसर में ही मौजूद थे. लेकिन जैसे ही उसको पता लगा कि मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. सभी परिजन वहा से नौ दो ग्यारह हो गये. परिजनों के द्वारा दिये गये नंबर पर कोई जवाब नहीं मिल रहा है. अस्पताल अधीक्षक डॉ मनीष मंडल ने बताया कि मरीज बेगूसराय के चट्टी रोड ग्राम निवासी राम प्रसाद साह का पुत्र हैं.

नीतीश कैबिनेट के मंत्रियों की विभाग सूची, सुशील मोदी के मंत्रालय तारकिशोर को

नीतीश सरकार की पहली कैबिनेट बैठक आज हुई, 23 से 27 नवंबर तक विधानसभा सत्र चलेगा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें