पटना : फुलवारी जेल में पानी को लेकर दो कैदियों के बीच लड़ाई, कैंची घोंपकर एक की हत्या

Indrajeet kumar, Last updated: Tue, 23rd Nov 2021, 11:52 AM IST
  • पटना के फुलवारी जेल में दो दिन पहले हैंडपंप से पानी भरने के दौरान दो बंदियों के बीच हुआ विवाद खूनी हमला में बदल गया. जेल में बंद एक कैदी मुन्ना खान ने दूसरे कैदी टुनटुन राय पर कैंची से ताबड़तोड़ हमला कर कर दिया. जिसके बाद टुनटुन को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.
मृतक कैदी टुनटुन राय

पटना. फुलवारी जेल में दो दिन पहले हैंडपंप से पानी भरने के दौरान दो बंदियों के बीच हुआ कहासुनी मारपीट और हत्या में बदल गया. सोमवार सुबह मुन्ना खान नामक एक बंदी ने कैंची से वार कर दूसरे बंदी 19 वर्षीय टुनटुन राय की हत्या कर दी. आरोपी ने कैंची से कंधे और पेट प्रवार किया था. घटना के तुरंत बाद आनन-फानन में जेल प्रशासन ने उसे पीएमसीएच में भर्ती कराया. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मृतक बंदी को तीन महीने पहले आलमगंज थाने से जेल भेजा गया था. मृतक पटना सिटी के तुक्कनघाट, मितन घाट झाऊगंज निवासी टोपन राय का बेटा है जबकि हमलावर बंदी जहानाबाद के बेलागंज का रहनेवाला है. हमलावर मुन्ना खान अपने भाई के हत्या के मामले में जेल में बंद है. कक्षपाल और परिजनों के तहरीर पर हमलावर बंदी के खिलाफ एयरपोर्ट थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है. घटना की सूचना मिलते ही कारा प्रशासन के आला अधिकारी फुलवारी जेल पहुंचकर जेल अधीक्षक लाल बाबू से जानकारी ली.

कैंटीन से लिट्टी-चोखा लेकर आ रहा था टुनटुन

जेल सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार सुबह लगभग नौ बजे बंदी टुनटुन राय जेल की कैंटीन से लिट्टी चोखा लेकर आ रहा था. तभी मुन्ना खान उससे भिड़ गया और टुनटुन पर कैंची से ताबड़तोड़ वार करने लगा. हामले में एक कैंची टुनटुन के पेट में और दूसरी कैंची उसके कंधे पर लगा. बुरी तरह से घायल होने के बाद टुनटुन खून से लथपथ होकर गिर पड़ा. हामले को देखकर बंदी रक्षक दौड़ते हुए मौके पर पहुंचे और हमलावर को पकड़ लिया. पुलिस ने घटनास्थल से खून से सनी कैंची बरामद कर लिया है. हमले की सूचना मिलते ही प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और जेल अधीक्षक अधीक्षक लाल बाबू से घटना के बारे में जानकारी ली. एयरपोर्ट थाना प्रभारी अरुण कुमार ने बताया कि कक्षपाल के आवेदन पर हमलावर बंदी मुन्ना के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है.

गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे की तैयारियां तेज, बिहार के इन जिलों से गुजरेगा हाइवे

दो बार पुलिस अभिरक्षा से फरार हो चुका है टुनटुन

मृतक टुनटुन पुलिस अभिरक्षा से 2 बार हथकड़ी सरका कर भाग चुका है. साल 2019 के अगस्त महीने में चोरी के मामले में सुनवाई के लिए कोर्ट में पेशी के दौरान टुनटुन हथकड़ी सरकाकर भाग चुका गया. भागने के अगले ही दिन यानि 31 अगस्त को टुनटुन यादव अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर खाजेकला से स्कूटी चोरी कर गांधी पुल के रास्ते वैशाली भाग रहा था. 31 अगस्त देर रात आलमगंज पुलिस संदेह के आधार पर स्कूटी सवार तीन लोगों को रोका तब टुनटुन यादव पश्चिम दिशा में पुल से नीचे कूदकर फरार हो गया. जिसके बाद पुलिस ने टुनटुन के दो साथी रवि और सुभाष को गिरफ्तार कर पूछताछ किया. बाद में मिले सुराग के आधार पर आलमगंज पुलिस ने 2 सितंबर को टुनटुन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें