तेजस्वी यादव, मीसा भारती, मदन मोहन झा समेत 6 पर 5 करोड़ टिकट मामले में केस दर्ज

Prachi Tandon, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 8:06 PM IST
  • 5 करोड़ लेकर टिकट नहीं देने के मामले में राजद नेता तेजस्वी यादव, मीसा भारती, कांग्रेस नेता मदन मोहन झा समेत 6 पर एफआईआर दर्ज की गई है. पटना में बुधवार को 5 करोड़ की ठगी के आरोप में छह पर केस दर्ज किया गया है.
तेजस्वी यादव, मीसा भारती समेत 5 पर ठगी के मामले में एफआईआर दर्ज.

पटना. 5 करोड़ के टिकट मामले में बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, आरजेडी सांसद मीसा भारती, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, सदानंद सिंह के बेटे, राजेश ठाकुर समेत एक अन्य व्यक्ति पर पटना के कोतवाली थाने में केस दर्ज हुआ है. 5 करोड़ की रकम लेने के बाद टिकट नहीं देने के आरोप में मामला दर्ज हुआ है. आरोप है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में संजीव को भागलपुर से टिकट देने के बदले राजद नेता तेजस्वी यादव ने कथित तौर पर 5 करोड़ रुपए की रकम ली है.

5 करोड़ रुपए लेने और टिकट ना देने के मामले में पटना के कोतवाली थाना में बुधवार को केस नंबर 365/21 में धारा संख्या 420, 67, 68, 71, 34, 120 में केस दर्ज किया गया है. टिकट के बदले पैसे लेने का आरोप लगाने वाले संजीव कुमार ने तेजस्वी यादव को कठघरे में लाकर खड़ा कर दिया है. तेजस्वी, मीसा भारती समेत 5 नेताओं के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज किया गया है. 

RJD नेता तेजस्वी यादव, मीसा भारती समेत 6 लोगों पर पांच करोड़ लेकर टिकट देने का आरोप, FIR का आदेश

5 करोड़ की रकम लेकर टिकट ना देने का आरोप लगाने वाले संजीव सिंह ने कहा था कि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने उन्हें लोकसभा चुनाव से पहले भागलपुर की सीट देने का वादा किया था. जिसके लिए उन्होनें 5 करोड़ रुपए लिए थे. पैसे लेने के बाद वह मुकर गए. संजीव सिंह ने इसी के साथ कहा कि पूरे मामले में लालू यादव की बेटी और राजद सांसद मीसा भारती के साथ कांग्रेस नेता मदन मोहन झा भी शामिल हैं.  

RJD के प्रशिक्षण शिविर में बोले लालू यादव- बिहार के हर जिले का करूंगा दौरा

संजीव सिंह का आरोप है कि टिकट का वादा किया गया लेकिन बाद में तेजस्वी ने उन्हें जान से मारने तक की धमकी दी थी. संजीव सिंह के आरोपों के बाद पटना के एसएसपी ने कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था. आदेश के बाद बुधवार को तेजस्वी, मीसा समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें