पूर्व JDU विधायक मनजीत सिंह करेंगे घर वापसी, जल्द ज्वाइन कर सकते हैं पार्टी

Smart News Team, Last updated: Tue, 6th Jul 2021, 12:19 PM IST
बिहार के बैकुंठपुर के पूर्व जदयू विधायक मंजीत सिंह जल्द ही जनता दल यूनाइटेड (जदयू) की फिर से सदस्यता लेंगे. बिहार विधानसभा चुनाव के समय जदयू से टिकट न मिलने की वजह से मंजीत सिंह जल्द ही तेजस्वी यादव की राजद पार्टी में जाने वाले थे. लेकिन नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद उनका मन बदल गया.
बैकुंठपुर के पूर्व जदयू विधायक मंजीत सिंह जल्द ही जदयू की सदस्यता लेंगे. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार की राजनीति में लगातार गर्मी बनी हुई है. जनता दल यूनाइटेड (जदयू) को बागी तेवर दिखाकर पार्टी छोड़ने वाले बैकुंठपुर के पूर्व जदयू विधायक मंजीत सिंह आने कुछ दिनों में वापस पार्टी ज्वाइन करेंगे. ज्ञात हो कि पूर्व जदयू विधायक मंजीत सिंह ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से बीते जून के महीने में मुलाकात की थी. तेजस्वी यादव से मुलाकात के बाद उन्होंने घोषणा की थी कि वे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को जल्द ज्वाइन करेंगे. पर बीते दो जुलाई को मनजीत सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात किया. जिसके बाद से पूर्व एमएलए मंजीत सिंह का मन बदल गया.

सीएम नीतीश कुमार और मंजीत सिंह के इस मुलाकात के दौरान वहां पर बिहार शिक्षा मंत्री विजय चौधरी और खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मंत्री लेसी सिंह भी मौजूद थी. मुख्यमंत्री से मुलाकात करने के बाद मंजीत सिंह ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को अपना नेता माना है. और कभी भी जनता दल यूनाइटेड पार्टी से अलग नहीं रहे हैं. अब आने वाले कुछ दिनों में मंजीत सिंह को जदयू के बड़े नेता विजय कुमार चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा जैसे बड़े पार्टी नेता उनकी पार्टी वापसी करवाएंगे.

RJD स्थापना दिवस पर लालू यादव बोले, तेजस्वी-राबड़ी नहीं होतीं तो रांची में ही खत्म हो जाता

दरअसल पूर्व विधायक मंजीत सिंह कि नाराजगी तब बढ़ गई जब उन्हें साल 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में जदयू की ओर से टिकट नहीं मिला था. जिसके बाद मनजीत सिंह निर्दलीय एनडीए के प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ गए. भले ही यह चुनाव मनजीत सिंह हार गए हो पर उन्होंने एनडीओ को यहां पर बड़ा नुकसान पहुंचाया था. ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि मंजीत सिंह को तेजस्वी यादव अपने पाले में कर लेंगे लेकिन बिहार सीएम नीतीश कुमार की कोशिशों ने उन्हें वापस अपने पार्टी में ला दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें