बिहार सिपाही भर्ती: 13 फर्जी अभ्यर्थी अरेस्ट, कागजों में नहीं थे नाम

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 09:20 PM IST
  • बिहार सिपाही भर्ती में शारीरिक दक्षता परीक्षा के दौरान 13 अभ्यर्थी फर्जीवाड़े के आरोप में गिरफ्तार किए गए. इन सभी आरोपियों के नाम उनके कागजातों और बायोमैट्रिक अंगूठे के निशान नहीं मिले थे.
बिहार सिपाही भर्ती में और 13 फर्जी अभ्यर्थी हुए गिरफ्तार

पटना. बिहार पुलिस संगठन भर्ती में फर्जीवाड़े के आरोप में 13 और फर्जी अभ्यर्थियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया. इन सभी को पुलिस ने सिपाही भर्ती के दौरान शारिरिक दक्षता परीक्षा के समय पकड़ा. सभी आरोपियों के खिलाफ केंद्रीय चयन परिषद ने गर्दनीबाग थाने में एफआईआर दर्ज कराई. पकड़े गए आरोपीयों से पुलिस पूछताछ कर रही है. बताया जा रहा है कि ये आरोपी बक्सर, सारण, नालंदा आदि जिलों से है.

आपको बता दे कि सिपाही भर्ती की शारीरिक दक्षता की परीक्षा गर्दनीबाग हाईस्कूल के मैदान में हो रहा है. शारिरिक दक्षता के दौरान सभी उम्मीदवारों के कागज़ातों की जांच हो रही थी. जिसमे इन आरोपियों की उनके कागज़ातों में ना तो उनकी फोटो मिली और ना ही और ना ही बायोमेट्रिक अंगूठे के निशान मिला. जिसके बाद सभी को गिरफ्तार करके गर्दनीबाग बाग के थाने में बंद करके पूछताछ किया जा रहा है.

झारखंड से गाड़ी रजिस्टर है तो जाएं सावधान, बिहार में हो सकती है कार्रवाई

ऐसा मन जा रहा है कि इन आरोपियों ने लिखित परीक्षा में सॉल्वरों को बैठाया होगा. सभी आरोपियों को अपने हिरासत में लेने वाले थाना प्रभारी अरुण कुमार ने बताया कि सभी आरोपियों से उनके नाम पते का सत्यापन किया जा रहा है, जिसके बाद आगे की कार्यवाही किया जाएगा. गौरतलब है कि अभी तक सिपाही भर्ती की शारिरिक दक्षता परीक्षा में अब तक दो से अधिक अभ्यर्थियों को फर्जीवाड़े के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा चुका है.

रांची: लालू यादव की जमानत पर झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई कल, CBI ने किया था विरोध

दक्षता परीक्षा में 576 अभ्यर्थी हुए सफल

पुलिस भर्ती के केंद्रीय चयन पर्षद के विशेष कार्य पदाधिकारी ने बताया कि गुरुवार को कुल 1600 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था जिसमे से 1289 अभ्यर्थी ही शारिरिक दक्षता की परीक्षा देने पहुँचे थे. उनमे से दौड़ में 576 अभ्यर्थी ही सफल हुए और 713 असफल रहे. वहीं उचाई व सीना माप में 42 अभ्यर्थी असफल रहे तो 651 अभ्यर्थी सफल रहे .

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें