घोड़े पर सवार होकर अपनी शादी में पहुंची एयर होस्टेस, दूल्हे व बारातियों ने दिया ये रिएक्शन

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 15th Dec 2021, 8:44 AM IST
  • बिहार के गया में एक दुल्हन घोड़े में सवार होकर दूल्हे को लेने पहुंचे. एयरहोस्टेस दुल्हन सफेद घोड़े पर सवार होकर जब शहर में निकली तो उसे देखने लोगों की भीड़ लग गई. इस दौरान दुल्हन ने घोड़े पर सवार होकर जमकर मस्ती की. उन्होंने कहा कि उनके होने वाले पति की वजह से ये हो सका.
बैंड बाजे के साथ सफेद घोड़े में सवार होकर निकली दुल्हन, दूल्हे के घर पहुंच किया ये (फोटो सभार लाइव हिंदुस्तान)

पटना. बिहार के गया में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया. गया में एयर होस्टेस दुल्हन सफेद घोड़े पर सवार होकर दूल्हे के पास कार्यक्रम स्थल पहुंची. इस तरह शहर में पहली बार दुल्हन द्वारा बारात ले जाने को लेकर लोग चौंक गए. शहर के जिन इलाकों से होकर दुल्हन अनुष्का गुजरी पूरा शहर सड़कों पर बारात देखने को उमड़ पड़ा.

दुल्हन घोड़े पर दूल्हा कार में सवार होकर निकला

एयर होस्टेस दुल्हन देर शाम घोड़े पर सवार होकर दूल्हे के  यहां पहुंची.  दुल्हन के परिवार वाले और अन्य सभी बारात के साथ पहुंचे. इस दौरान दूल्हे को लेकर दुल्हन चली, बारात के आगे दुल्हन घोड़े पर और बारत के बीच में कार में सवार होकर दूल्हा भी निकल पड़ा.

डीजल की महंगाई से बिहार में सफर महंगा, बस किराया 20 फीसदी तक बढ़ा

दुल्हन बोली कि सिर्फ दुल्हा नहीं हम भी ला सकते बारात

बारात को लेकर जाने को लेकर दुल्हन ने कहा कि सिर्फ लड़का ही बारात को लेकर क्यों जा सकता है. हम भी बारात लेकर जा सकते हैं. इसलिए हम घोड़े पर सवार होकर निकले. लड़का और लड़की में बराबर करने के लिए ऐसे कामों की जरूरत है.

दूल्हे से मांगी इजाजत बोला हां

दुल्हन अनुष्का ने बताया कि उसने इस काम के लिए अपने दूल्हे जीत मुखर्जी से अनुमति मांगी थी, उसने हां बोल दिया जिसके बाद बारात लेकर निकला. इसके लिए सबसे ज्यादा धन्यवाद अपने पति को दूंगी जिन्होंने मुझे इजाजत दी.

बिहार पंचायत चुनाव: बायोमेट्रिक में अंगूठा का निशान देने के बाद वोटर के खाते से पैसा गायब

बता दें कि दुल्हन अपने काम के चलते कोलकाता रहती है. पति जीत मुखर्जी भी कोलकाता में रहकर अपना बिजनेस करता है. गया में लड़की की मां रहती है जो निजी स्कूल की टीचर है. इसके चलते बारात गया पहुंची और सारे कार्यक्रम यहां ही संपन्न हुए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें