पटना जंक्शन के पास बकरी बाजार हुआ कूड़ा मुक्त

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 05:03 PM IST
  • पटना जंक्शन के पास बने बकरी बाजार का कूड़ा नगर निगम प्रशासन द्वारा साफ करा दिया गया है. नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि 13 अक्टूबर से ट्रांसफर स्टेशन शुरू होने के बाद किसी भी अंचल से कूड़ा नहीं गिराया जा रहा है. यहां से सभी कूड़ा के उठाव के बाद पूरे क्षेत्र की डीप क्लीनिंग की गई है.
बकरी बाजार का कूड़ा नगर निगम प्रशासन द्वारा साफ करा दिया गया है.

पटना: पटना जंक्शन के पास बकरी बाजार में जमा कूड़े को साफ कराने में आखिरकार नगर निगम प्रशासन को सफलता मिल गई है. विधानसभा चुनाव में यह कूड़ा मुद्दा बन गया था. चुनावी प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही मुख्यमंत्री के स्तर से इस कूड़ा के जमाव पर सवाल किए गए थे.

क्षेत्र में सेकेंडरी कूड़ा प्वाइंट नहीं रहने की स्थिति में बकरी बाजार में विभिन्न मुहल्लों से लाकर कूड़ा जमा किया जा रहा था और फिर यहां से रामाचक बैरिया भेजा जा रहा था. समय-समय पर कूड़ा सही से नहीं उठने से यहां कूड़ा का अंबार लग गया था और दुर्गंध ने आसपास के लोगों को परेशान कर दिया था. पिछले दिनों इस कूड़े पर जमकर राजनीति हुई.

बिहार चुनावः वोटिंग को लेकर दबाव डाल रहे प्रत्याशी के बेटे को पुलिस ने किया अरेस्ट

गौरतलब है कि चुनावी माहौल में कांग्रेस ने कूड़े के बीच प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी थी. इसके बाद नगर निगम प्रशासन फौरन हरकत में आया और बकरी बाजार को खाली करा दिया. पटना नगर निगम की ओर से कहा गया है कि बकरी बाजार में अंदरूनी हिस्सों में जमे लीगेसी वेस्ट को पूरी तरह से साफ कर दिया गया है. दरअसल, गर्दनीबाग ट्रांसफर स्टेशन के निर्माण की प्रक्रिया चलने के कारण नूतन राजधानी अंचल, पाटलिपुत्र अंचल, और बांकीपुर अंचल का कूड़ा बकरी बाजार में गिराया जा रहा था.

पटना: कदमकुआं प्लाई कारखाना में लगी आग, लाखों की संपत्ति जलकर राख

नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि 13 अक्टूबर से ट्रांसफर स्टेशन शुरू होने के बाद किसी भी अंचल से कूड़ा नहीं गिराया जा रहा है. यहां से सभी कूड़ा के उठाव के बाद पूरे क्षेत्र की डीप क्लीनिंग की गई है. साथ ही नगर आयुक्त ने निर्धारित समय सीमा के भीतर कार्य पूरा नहीं होने के मामले में कार्रवाई भी की है. नगर आयुक्त ने सिटी मैनेजर को नोटिस जारी कर समय पर कार्य पूरा न होने का कारण पूछा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें