बिहार के गोपालगंज में पैसा, जेवर नहीं चिकन के पीछे चोर, 10 दिन में 185 मुर्गे चोरी

Shubham Bajpai, Last updated: Mon, 20th Dec 2021, 4:26 PM IST
  • बिहार के गोपालगंज में चिकन व्यापारी मुर्गा चोर के आंतक से परेशान है. पिछले दस दिनों में इलाके में करीब 185 मुर्गों की चोरी हो गई है. जिससे व्यापारियों का करीब 54600 रुपये का नुकसान हो चुका है. हालांकि व्यापारियों की ओर से पुलिस में कोई शिकायत नहीं की गई है वो अपने स्तर पर चोर की पहचान कर रहे हैं.
गोपालगंज में मुर्गा चोरों के आतंक से व्यापारी परेशान, 10 दिन में 185 मुर्गे चोरी (फाइल फोटो)

पटना. बिहार के गोपालगंज में चिकन व्यापारियों की इतनी ठंड में भी रात की नींद उड़ी हुई है. सभी व्यापारी मुर्गा चोर से परेशान हैं. बढ़ती ठंड और नए साल के आने से पहले नगर थाना इलाके के यादोपुर चौक के पास विभिन्न इलाकों में अभी तक 185 मुर्गों की चोरी हो चुकी है. पिछले 10 दिन से अज्ञात चोर अलग-अलग दुकानों को अपना शिकार बना रहे हैं, जिससे व्यापारियों का अभीत क 54600 रुपये का नुकसान हो चुका है.

10 दिन में 6 दुकानों में चोरी

सबसे पहली चोरी मिनाज कुरैशी नाम के व्यापारी की दुकान में 10 दिसंबर को हुई, जिसमें 35 मुर्गों को लेकर चोर फरार हो गए. उसके बाद सिलसिला शुरू हो गया. 15 दिसंबर को असलम कुरैशी की दुकान में 40 मुर्गों की चोरी, 17 दिसंबर की रात जर्दली कुरैशी की दुकान में 50 मुर्गों की चोरी और रविवार को एक साथ दो दुकानों में जिसमें शाहिद कुरैशी की दुकान में 20 और साहेब कुरैशी की दुकान में 20 मुर्गों की चोरी हुई है.

गैंगस्टर पप्पू देव की गोलीबारी के बाद पुलिस हिरासत में हार्ट अटैक से मौत, लोगों ने हाइवे किया जाम

पुलिस में नहीं दर्ज कराई शिकायत

लगातार मुर्गा चोरी होने के बाद भी अभी तक किसी भी तरह की व्यापारियों ने कोई शिकायत पुलिस को नहीं कराई है. व्यापारी अपने स्तर पर चोरों की पहचान कर रहे हैं. चोरी हुए सभी मुर्गों का वजन 3 किलो बताया जा रहा है. जिस अनुसार, अभी मुर्गा 150 रुपये किलो के हिसाब से बिक रहा है. जिस अनुसार 300 रुपये कीमत तक एक मुर्गे की कीमत है. जिसके चलते नुकसान करीब 54600 रुपये बताया जा रहा है.

पटनाः मायके जा रही महिला से रास्‍ते में रेप की कोशिश, विफल होने पर छीनी चेन

ठंड का फायदा उठा रहे चोर

ठंड के चलते इलाके में व्यापारी दुकान जल्दी बंद करके अपने घर चले जाते हैं. इस दौरान बाहर जाल में मुर्गे बंद रहते हैं. जिसका ताला तोड़ चोर ठंड का फायदा उठाकर सभी मुर्गों को आसानी से अपने साथ ले जाते हैं. जिससे लगातार व्यापारी को काफी नुकसान हो रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें