पटना के होटल में व्हाट्सएप से चलता था हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट, 8 कॉल गर्ल समेत 17 गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Fri, 20th Aug 2021, 12:00 PM IST
  • पटना के एक होटल में चल रहे सेक्स रैकेट पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए होटल संचालक, 8 कॉल गर्ल समेत 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया. इन कॉल में 1 यूपी की और बाकी पश्चिम बंगाल की थी. इस गिरोह में कई राज्यों की लड़कियां शामिल हैं. अब पुलिस इस मामले में पूछताछ कर इसके अन्य कनेक्शन तलाश कर रही है.
पटना में चल रहे हाईटैक सेक्स रैकेट का भाडाफोड़, पुलिस ने 17 लोगों को किया गिरफ्तार.( सांकेतिक फोटो )

पटना. बिहार की राजधानी पटना के एग्जीबिशन रोड स्थित दयाल होटल में काफी समय से चल रहे सेक्स रैकेट पर छापेमारी कर पुलिस ने होटल संचालक पंकज कुमार, 8 कॉल गर्ल समेत 17 लोगों को गिरफ्तार किया. यह सेक्स रैकेट हाईटैक तरीके से चल रहा था. पुलिस ने यह कार्रवाई सेक्स रैकेट में शामिल मीरा देवी नाम की महिला की निशानदेही पर की. इस सेक्स रैकेट में बिहार समेत बाहर के कई राज्यों की लड़की शामिल हैं. इसमें पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों से लड़कियां बुलाई जाती हैं. इस सेक्स रैकेट में कई हाईप्रोफेाइल लोगों का भी संबंध सामने आ रहा है.

वाट्सऐप के जरिए तय होते थे कॉल गर्ल के रेट

गिरफ्तार की गई कॉल गर्ल ने बताया कि ग्राहकों को वाट्सऐप के जरिए कॉल गर्ल की तस्वीर भेजी जाती थी, जिसके बाद वो पहले कॉल गर्ल को पसंद करते हैं. उसके बाद उसकी कीमत तय होती है. 6 हजार से लेकर 18 हजार रुपए तक कीमत तय की जाती है. वहीं, इस काम में होटल संचालक को होटल के लिए 35 सौ रुपए रोज दिया जाता था. किसी भी लड़की को होटल में कम से कम एक हफ्ते तक रहना होता था और सभी की पहचान इस दौरान छिपी होती है.

डिप्टी CM तारकिशोर बोले- जाति जनगणना से BJP को एतराज नहीं, नीतीश के साथ जाएंगे

होटल रजिस्टर में पुलिस अब रैकेट के अन्य कनेक्शन की कर रही खोजबीन

टाउन डीएसपी सुरेश प्रसाद ने बताया कि जब होटल संचालक पंकज कुमार ने पूछताछ में बताया कि उसने होटल को चलाने के लिए लीज में लिया था. होटल में आने वाले किसी का नाम और पते की इंट्री होटल रजिस्टर में नहीं होती थी. वहीं, छापेमारी के दौरान पुलिस को होटल के कमरों में आपत्तिजनक सामान मिला और होटल के रजिस्टर में किसी का नाम भी नहीं मिला था. अब पुलिस इस मामले में इसके कनेक्शन को लेकर खोजबीन कर रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें