खबर का असरः बिहार में डॉक्टरों की मौत पर मानवाधिकार आयोग का संज्ञान, मांगी रिपोर्ट

Smart News Team, Last updated: Fri, 21st May 2021, 6:47 PM IST
  • बिहार मानवाधिकार आयोग ने कोरोना से डॉक्टरों की मौत पर हिन्दुस्तान अखबार की खबर पर संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव से एक हफ्ते के भीतर रिपोर्ट मांगी है. बिहार में कोरोना से 80 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है.
कोरोना की दूसरी लहर में 80 डॉक्टरों की मौत पर मानवाधिकार आयोग ने रिपोर्ट मांगी.

पटना. कोरोना की दूसरी लहर में डॉक्टरों की 80 मौतों पर हिन्दुस्तान अखबार की खबर पर बिहार मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने इस बारे में बिहार स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव से स्पष्ट तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है. आयोग ने स्वास्थ्य विभाग से हफ्ते के भीतर रिपोर्ट मांगी है. आपको बता दें कि पटना हिन्दुस्तान के 21 मई के अखबार में दूसरी लहर में बिहार के 80 डॉक्टरों की मौत खबर छपी थी.

इसके बाद शुक्रवार को मानवाधिकार आयोग ने स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव को पत्र भेजकर रिपोर्ट मांगी गई है. इस चिट्ठी बिहार मानवाधिकार आयोग ने कहा कि आयोग ने भली-भांति विचार कर मानवाधिकार संरक्षण अधिनियम 1993 की धारा 17 के अंतर्गत मिली शक्तियों के तहत इस मामले में रिपोर्ट एक हफ्ते के भीतर उपलब्ध कराएं.

पटना एम्स के रेजीडेंट डॉक्टरों ने दी 24 मई से हड़ताल की चेतावनी, ये है उनकी मांग

कोरोना संक्रमण के बीच बिहार की राजधानी पटना एम्स के रेजीडेंट डॉक्टरों ने 24 मई से हड़ताल करने की चेतावनी दी है. रेजीडेंट डॉक्टरों का कहना है कि कारोना संक्रमित होने के बाद कई बार उनको बेड मिलने में दिक्कत आती है. डॉक्टरों ने पटना एम्स में 20 रिजर्व बेड करने की मांग की है. डॉक्टरों का कहना है कि अगर उनकी मांग पूरी नहीं की गई तो 24 मई से हड़ताल करेंगे.

ब्लैक फंगस जैसा घातक और जानलेवा नहीं है व्हाइट फंगस, जानें विशेषज्ञों की राय

बिहार में बीते दिनों से लगातार कोरोना के मामलों में कमी देखने को मिल रही है. बिहार में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 5 हजार 871 नए मामलों की पहचान हुई है. वहीं 9 हजार 977 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. बिहार में पिछले 24 घंटे में कोविड से 98 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें