बिहार में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर अब करनी पड़ेगी पढ़ाई, आंशिक ट्रेनिंग होगी

Smart News Team, Last updated: Tue, 6th Jul 2021, 9:07 AM IST
बिहार में ट्रैफिक नियमों का उल्लघंन करने वालों को पढ़ाई करनी होगी. यातायात के नियमों को नहीं मानने वालों को आंशिक ट्रेनिंग लेनी होगी. प्रशिक्षण लेने के बाद ही वाहन चालकों को ड्राइविंग लाइसेंस सहित गाड़ी के अन्य कागजात मिलेंगे.
बिहार में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर अब करनी पड़ेगी पढ़ाई, आंशिक ट्रेनिंग होगी (सांकेतिक फोटो )

पटना. बिहार में ट्रैफिक नियमों का उल्लघंन करने वालों को पढ़ाई करनी होगी.  हेलमेट नहीं पहनने, सीट बेल्ट नहीं लगाने सहित यातायात के अन्य नियमों का पालन करना होगा. ऐसा नहीं करने पर आंशिक ट्रेनिंग लेनी होगी. प्रशिक्षण लेने के बाद ही वाहन चालकों को ड्राइविंग लाइसेंस सहित गाड़ी के अन्य कागजात मिलेंगे. अभी ऐसा सिर्फ राजधानी पटना में है. 

परिवहन विभाग पूरे बिहार में इसका विस्तार करने जा रहा है. तैयारी शुरू हो चुकी है.  बिहार में 14 जनवरी 2020 को 31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के अवसर पर सुधारात्मक प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी. 

सुधारात्मक प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत यातायात नियमों का उल्लघंन करने वालों को प्रशिक्षण केंद्र में बुलाकर डेढ़ घंटे की ट्रेनिंग दी जाती है. इसके लिए परिवहन भवन के ऑफिस में एक विशेष क्लास रूम तैयार किया गया है. ट्रेनिंग रूम में एक साथ 20 लोगों बैठ सकते हैं. सोमवार से शनिवार तक हर दिन डेढ़-डेढ़ घंटे के दो स्लॉट में ट्रेनिंग दी जाती है.

बारिश में पटना की ये सड़कें बनी मौत का दरवाजा! संभलकर करें यात्रा

 बता दें कि सुधारात्मक प्रशिक्षण के तहत वाहन चलाने वालों को नए मोटर नियमावली के संबंध में जानकारी दी जाती है. इसके अलावा ट्रैफिक सिग्नल और सड़क संकेतक की भी जानकारी दी जाती है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें