पोते की शादी से इंकार करने पर लड़की वालों ने की दादा की हत्या, आरोपी फरार

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Jun 2021, 8:04 AM IST
  • पोते की शादी से इंकार करने पर लड़की वालों ने दादा को पीट-पीटकर मार डाला. जिसके बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए. इस मामले में मृतक के बेटे ने लड़की पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया है. पुलिस मामले की जांच करने में जुटी हुई है. 
लड़की पक्ष ने दादा की पीट-पीटकर हत्या की (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना. राजधानी पटना में पोते की शादी के लिए मना करने पर लड़की पक्ष के लोगों ने दादा की पीट-पीटकर हत्या कर दी. जानकारी के अनुसार लड़के वालों ने अपने बेटे धर्मेंद्र का रिश्ता किसी दूसरी लड़की से कर दिया था. इस कारण गुस्साएं लड़की पक्ष के लोगों ने धर्मेंद्र के घर आकर गाली-गलौज व धक्का मुक्की की. इसी दौरान दादा सुरेंद्र सिंह की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. इस घटना को लेकर परसा बाजार थाना के प्रशिक्षु डीएसपी प्रिया ज्योति ने बताया कि मामले की जांच जारी है. जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

दरअसल महुली गांव के रहने वाले सुरेंद्र सिंह और उनके बेटे यमुना सिंह दोनों ही धर्मेंद्र की शादी वैशाली की रहने वाली लड़की से नहीं करना चाहते थे. इस कारण उन्होंने वैशाली की लड़की से शादी करने से मना कर दिया था और धर्मेंद्र का रिश्ता किसी दूसरी लड़की से तय कर दिया था. जब इस बात की जानकारी लड़की पक्ष के लोगों को हुई तो उन्होंने इस रिश्ते का विरोध करना शुरू कर दिया. लड़की वालों का कहना था कि जब धर्मेंद्र और उनकी लड़की दोनों ही एक-दूसरे से प्यार करते है तो किसी दूसरी लड़की से धर्मेंद्र की शादी न की जाए.

BPSC: किराना दुकानदार का इंजीनियर बेटा ओम प्रकाश बिना कोचिंग बना बीपीएससी टॉपर

बीते रविवार को लड़की पक्ष के लोग सुरेंद्र सिंह के घर महुली गांव आए. जहां उन्होंने अपनी लड़की की शादी धर्मेंद्र से कराने के लिए उसके पिता यमुना सिंह पर दबाव डाला. लेकिन यमुना सिंह और दादा सुरेंद्र सिंह दोनों ने इस रिश्ते से साफ इंकार कर दिया. जिसपर दोनों पक्षों में गाली-गलौज एवं धक्का-मुक्की शुरू हो गई. जब बीच बचाव करने के लिए दादा सुरेंद्र सिंह बीच में आए, तो लड़की वालों ने उन्हें पीट-पीटकर मार डाला. जिसके बाद सारे आरोपी मौके से फरार हो गए. इस मामले में मृतक सुरेंद्र सिंह के बेटे यमुना सिंह ने हत्या का आरोप लगाया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें