पटना: रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में 3 अरेस्ट, प्राइवेट अस्पताल में छापा

Smart News Team, Last updated: 09/05/2021 03:18 PM IST
आर्थिक अपराध इकाई और ड्रग इंस्पेक्टर ने कंकड़बाढ़ा इलाके में तीन लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ गिरफ्तार किया. तीनों कालाबाजारी कर रहे लोगों के पास  3 रेमडेसिविर इंजेक्शन सहित कई एटीएम कार्ड, क्रेडिट कार्ड, मोबाइल फोन और दो बाइक जब्त की गई है.
तीन लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन का कालाबाजारी करते हुए गिरफ्तार किया गया. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटना : आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी एनएच खान की टीम ने शनिवार को कंकड़बाग इलाके से तीन लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन का कालाबाजारी करते हुए पकड़ा है. आर्थिक अपराध इकाई द्वारा पकड़े गए यह तीनों लोगों के पास 3 रेमडेसिविर इंजेक्शन भी जब्त किया है. जिसको यह तीनों लोग प्रति रेमडेसिविर इंजेक्शन 40000 में बेचने की योजना बना रहे थे. गिरफ्तार किए गए तीनों लोगों में से अमित कुमार चांदमारी निवासी, मैनकाइंड फार्मा कंपनी का एमआर नीतीश कुमार निवासी अशोक नगर और भास्कर पाठक को समाचार पोर्टल का एचआर का काम करते है. 

इनकी गिरफ्तारी के दौरान ईओयू को अपराधियों के पास से मोबाइल फोन, क्रेडिट कार्ड, एटीएम कार्ड और दो मोटरसाइकिल जिस पर एक न्यूज़ वेबसाइट पोर्टल का स्टीकर लगा पाया गया है. जिसको ईओयू के अधिकारियों ने जब्त कर लिया है. इन तीनों की गिरफ्तारी से पहले आर्थिक अपराध इकाई ने एक प्राइवेट अस्पताल के निर्देशक को भी रेमडेसिविर इंजेक्शन के कालाबाजारी के आरोप में गिरफ्तार किया था. साथ ही आर्थिक अपराध इकाई कंकड़बाड़ा इलाके में स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में गहन छानबीन कर रही है. ईओयू के बड़े अधिकारियों का मानना है कि इस कालाबाजारी का पूरा लिंक उसी प्राइवेट अस्पताल से जुड़ा हो सकता है. 

बिहार में टीकाकरण को लेकर CM नीतीश का निर्देश,इस बार स्कूल-कॉलेज में लगेंगे कैंप

फिलहाल पुलिस सभी खोजबीन कर रही है. इस छापेमारी में आर्थिक अपराध इकाई के साथ ड्रग इंस्पेक्टर भी मौजूद थे. ड्रग इंस्पेक्टर ने निजी अस्पताल को कितने रेमडेसिविर इंजेक्शन आवंटित किए गए और जो तीनों अपराधियों के पास से रेमडेसिविर इंजेक्शन मिले हैं उनको आपस में जांच पड़ताल करके जांच किया जा रहा है. कही ये निजी अस्पताल का ही तो रेमडेसिविर इंजेक्शन नही है. फिलहाल इस मामले की पूरी छानबीन पुलिस और ड्रग इंस्पेक्टर मिलकर कर रहे हैं आने वाले दिनों में इस कालाबाजारी से जुड़े कई और नामों के खुलासा हो सकता है.

पटना के किस अस्पताल में है कोविड बेड, अब एक फोन कॉल से करें पता, जानें डिटेल

बिहार स्वास्थ्य विभाग ने CT स्कैन का रेट किया तय, अधिक वसूलने पर होगा सख्त एक्शन

बेऊर जेल में कैदी ने की आत्महत्या की कोशिश, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें