पटना: सदाकत आश्रम में 50 से अधिक नेताओं ने थामा कांग्रेस का दामन

Smart News Team, Last updated: Sun, 14th Feb 2021, 11:05 PM IST
  • प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने इन नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई. इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज राज्य की भाजपा-जदयू सरकार की नीतियों से आम आवाम से लेकर खुद उनकी पार्टी के नेता बुरी तरह परेशान हैं. लोग विकल्प की तलाश कर रहे हैं. इनके लिए कांग्रेस के दरवाजे हमेशा खुले हैं.
सदाकत आश्रम में 50 से अधिक नेताओं ने थामा कांग्रेस का दामन.

पटना- प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा की उपस्थिति में तकरीबन 50 से अधिक नेताओं ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करने वाले ये सभी नेता समस्तीपुर और दरभंगा के हैं. इस मौके पर जन अधिकार पार्टी के अविनाश झा, अरविन्द रजक, पूर्व राज्य परिषद सदस्य (जदयू) अमित झा, पूर्व प्रदेश सचिव जाप, राणा अमित सिंह, पूर्व जिला महासचिव जाप, विजय झा, लोजपा नेता, गौरव झा, बाबी कुमार, बौआ कान्त झा समेत कई नेताओं ने कांग्रेस पार्टी का दामन थामा.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने इन नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई. इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज राज्य की भाजपा-जदयू सरकार की नीतियों से आम आवाम से लेकर खुद उनकी पार्टी के नेता बुरी तरह परेशान हैं. लोग विकल्प की तलाश कर रहे हैं. इनके लिए कांग्रेस के दरवाजे हमेशा खुले हैं.

पंचायत राज एक्ट में होगा संशोधन, विभाग ने नीतीश कैबिनेट के पास भेजा प्रस्ताव

इस मौके पर डा. मदन मोहन झा ने कहा कि इन नेताओं के कांग्रेस में आने से पार्टी और मजबूत होगी. सदाकत आश्रम में हुए इस कार्यक्रम में सुबोध कुमार, विधायक प्रमोद कुमार सिंह, मीडिया विभाग के अध्यक्ष एचके वर्मा, प्रवक्ता राजेश राठौड़ एवं शरबत जहांफातमा, पूर्व विधायक लाल बाबू लाल, आनन्द माधव, शंकर झा समेत अन्य नेता मौजूद रहे.

बीपीएससी में जनसंपर्क अधिकारी पद पर वैकेंसी, आवेदन की अंतिम तारीख 12 मार्च

बिहार विधानसभा चुनाव में बड़ा फर्जीवाड़ा, जहां टेंट तक नहीं लगे वहां का बिल दिया

दो दिवसीय दिल्ली दौरे से पटना लौटे CM नीतीश, यात्रा के बारे में दी जानकारी

महिला थानेदार पर चाकू से हमले के आरोप में पूर्व कलेक्ट्रेट कर्मी को जेल

अभय मेमोरियल T-20 कॉरपोरेट क्रिकेट लीग: DAV की जीत, BGSF को 113 रन से हराया

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें