पटना में चुनावों के मद्देनजर इस बार 2014 सहायक मतदान केंद्र बनाए गए

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Oct 2020, 2:16 PM IST
  • कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए इस बार 1000 मतदाताओं के पीछे एक मतदान केंद्र बनाया गया है. इसके लिए जिले में 2014 सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं.
कोरोना के मद्देनजर इस बार पटना में सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं

पटना. जिले में चुनावी सरगर्मियां तेज है. कोरोना के कारण वोटिंग करने के लिए आने वाले मतदाताओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं. जिसके कारण इस बार सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए मतदान केंद्र बनाए गए हैं. डीएम कुमार रवि ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 1000 मतदाताओं के पीछे एक मतदान केंद्र बनाया गया है. जिले में अतिरिक्त 2014 सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं ताकि कोरोना संकट को देखते हुए सुरक्षित मतदान करवाया जा सके. 

गौर हो कि जिले में पहले ही 4620 मूल मतदान केंद्र हैं. इस बार इसके अलावा 2014 सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं. एक ओर यहां शासन सुरक्षित चुनाव करवाने के लिए हर तरह के प्रबंध करने में जुटा हुआ है वहीं पुलिस प्रशासन भी सुरक्षित मतदान करवाने के लिए अलर्ट है. डीएम ने बताया कि कि मतदान केंद्र के बारे में जानकारी लेने के लिए वोटर की सहायता के लिए 1950 नंबर है, वोटर यह नंबर डायल करके और वोटर हेल्पलाइन एप से भी मतदान केंद्र के बारे में जानकारी ले सकते हैं। 

CPI का बीजेपी पर पलटवार, कहा- भाजपा नेता 15 साल में CM नीतीश से कुछ नहीं करा सके

जिले में स्थापित किए गए मतदान केंद्रों और सहायक मतदान केंद्रों की गिनती अब 6500 से ऊपर हो गई है. प्रशासनिक अधिकारियों की ओर से इन केंद्रों का दौरा कर निरीक्षण भी किया जा रहा है और लोगों की शिकायतें सुनकर उनका निपटारा किया जा रहा है.  दीघा और बांकीपुर के जनरल ऑब्जर्वर एमआई पटेल की ओर से जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र का निरीक्षण किया गया और शिकायतों को सुना गया. इस दौरान सी-विजिल कोषांग से संबंधित शिकायतों को सुना गया. अधिकारियों ने करीब डेढ़ घंटे में में सभी शिकायतों का हल करने के निर्देश दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें