बिहार कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में आयकर विभाग का छापा, 8 लाख कार से बरामद

Smart News Team, Last updated: Thu, 22nd Oct 2020, 8:22 PM IST
  • आयकर विभाग की टीम ने बिहार कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में छापेमारी की. बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स की टीम ने मुख्यालय परिसर में खड़ी एक गाड़ी से आठ लाख रुपये बरामद किए हैं.
बिहार कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में आयकर विभाग का छापा, 8 लाख कार से बरामद

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के माहौल में आयकर विभाग ने बिहार कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में छापेमारी की. बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स की टीम ने मुख्यालय परिसर में खड़ी एक गाड़ी से आठ लाख रुपये बरामद किए हैं. आयकर विभाग की कार्रवाई के दौरान कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला भी मौजूद थे.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शक्ति सिंह गोहिल ने इस संबंध में कहा है कि जिस गाड़ी से पैसा बरामद हुआ है उससे हमारा कोई संबंध नहीं है. उन्होंने कहा कि यह सार्वजनिक जगह है जहां काफी लोग आते-जाते हैं. 

कांग्रेस मुख्यालय में हुई छापेमारी पर शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि चुनाव में महागठबंधन की जीत देख कांग्रेस के खिलाफ साजिश हो रही है. कांग्रेस नेता ने कहा कि सदाकत आश्रम में किसी गाड़ी से रुपए मिलने से हमारा कोई संबंध नहीं है. यह सार्वजनिक जगह है और यहां बहुत से लोग आते हैं. किसी को आने के लिए अनुमति नहीं लेनी पड़ती है. 

पटना कांग्रेस मुख्यालय के बाहर आयकर विभाग के अधिकारी.

CM नीतीश पर कांग्रेस का हमला- फिसड्डी बाबू ने बदहाली की कगार पर ला दिया बिहार

शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में महागठबंधन की सरकार बनने जा रही है और यह उसी की बौखलाहट है. ध्यान भटकाने के लिए ऐसा किया जा रहा है.  

शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि कुछ दिन पहले बीजेपी प्रत्याशी के भाई के घर से 22 किलो सोना और ढाई किलो चांदी मिली है. एक बार भी इनकम टैक्स, ईडी या सीबीआई उनके यहां नहीं गई. मेरे कंपाउंड में कोई गाड़ी खड़ी है जिसमें आठ लाख रुपए मिले हैं तो इस पर मुझे नोटिस दिया जा रहा है. 

बिहार चुनावः BJP संकल्प पत्र के फ्री कोरोना वैक्सीन वादे पर चुनाव आयोग में शिकायत

प्रदेश प्रभारी गोहिल ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ये पब्लिक है सब जानती है. ये लोग बिहार में जितना हमें परेशान करेंगे हम उतना ही मजबूत होंगे. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें