कोरोना से जंग के लिए आगे आई भारतीय सेना, संभाली पटना के इस अस्पताल की कमान

Smart News Team, Last updated: Fri, 7th May 2021, 4:47 PM IST
  • बिहार की राजधानी पटना में भारतीय सेना ने ईएसआईसी हॉस्पिटल की कमान संभाल ली है. आर्मी की इस टीम में कई स्पेशलिस्ट डॉक्टर हैं. इसके बाद अस्पताल में बेडों की संख्या 500 कर दी जाएगी. जिसमें से 100 बेड आईसीयू के लिए होंगे.
बिहटा के ईएसआईसी अस्पताल में बेडों की संख्या 500 कर दी जाएगी.

पटना. बिहार में कोरोना से हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं. इसी बीच राजधानी पटना में कोरोना महामारी से जंग के लिए भारतीय सेना आगे आई है. आर्मी के जवानों ने बिहटा के ईएसआईसी अस्पताल की कमान संभाल ली है. हाल ही में पूर्वोत्तर के आर्मी बेस से सेना की दो फील्ड हॉस्पिटल की टीम एयरफोर्स के विमान से पटना पहुंची है.

मिली जानकारी के मुताबिक, आर्मी की इस टीम में स्पेशलिस्ट डॉक्टर के साथ मेडिकल टीम भी है. पहले इस अस्पताल में 100 बेड हुआ करते थे. सेना के हाथों में कमान आने के बाद हॉस्पिटल में 500 बेड होंगे. जिसमें से 100 बेड आईसीयू के लिए होंगे. आर्मी इस अस्पताल में एंबुलेंस के साथ कई उपकरण भी लाए हैं. सेना के अधिकारियों ने अस्तपाल प्रबंधन के साथ मीटिंग कर इलाज की सुविधाओं पर चर्चा की है.

बिहार में नीतीश सरकार ने तय किए कोरोना इलाज के रेट, पढ़ें पूरी जानकारी

सेना के कमान संभालने के बाद ईएसआईसी अस्पताल में केाविड से जुड़ी सभी सुविधाएं मौजूद रहेंगी. इस हॉस्पिटल में आईसीयू, वेंटिलेटर और मॉनिटरिंग उपकरण के साथ सभी बेड पर ऑक्सीजन उपलब्ध रहेगी. पटना के इस अस्पताल की कमान सेना के संभालने से कोरोना मरीजों को काफी राहत मिलेगी. बेड की संख्या बढ़ने से यहां मरीजों को बेहतर इलाज मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. इसके अलावा पटना एनएमसीएच को 400 बेड का कोविड अस्पताल बनाया गया है.

पटना: प्राइवेट एंबुलेंस पर शिकंजा, तय किराए से अधिक लेने पर होगी करवाई

बिहार में कोरोना से भयावह स्थिति होती जा रही है. बीते 24 घंटे में बिहार में 15 हजार 126 कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है. वहीं 13 हजार 364 लोग कोरोना से पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. बिहार में पिछले 24 घंटे में कोविड से 90 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें