पटना में कोरोना का कहर देख रेलवे की अपील- 14 दिन होम क्वारंटाइन में रहें यात्री

Smart News Team, Last updated: 09/07/2020 05:19 PM IST
  • पटना में जिस तरह के कोरोना का विस्फोट हो रहा है, उसे देखते हुए अब पटना में आने वाले ट्रेन यात्रियों को 14 दिन घर पर होम क्वारंटाइन की अवधि को पूरा करने को कहा जा रहा है। होम आइसोलेशन के दौरान तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल जा सकते हैं।
पटना जंक्शन की तस्वीर

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एक बार फिर से होम क्वारंटाइन को लेकर रेल प्रशासन सचेत हो गया है। पटना में जिस तरह के कोरोना का विस्फोट हो रहा है, उसे देखते हुए अब पटना में आने वाले ट्रेन यात्रियों को होम क्वारंटाइन की अवधि को पूरा करने को कहा जा रहा है। भारतीय रेलवे ने यात्रियों के व्यापक स्वास्थ्य हित के मद्देनजर रेल यात्रा कर पटना के विभिन्न स्टेशन पहुंचने वाले यात्रियों से यात्रा की समाप्ति के बाद अनिवार्य रूप से निर्धारित अवधि तक होम क्वारंटाइन (14 दिनों का) में रहने की अपील की है। रेलवे ने कोविड-19 के सामुदायिक संक्रमण को प्रभावी रूप से रोकने के प्रयास के तहत यह अपील की है। बता दें कि होम क्वांरटाइन न होने की वजह से भी कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है।

पटना में कोरोना का अब असली अटैक शुरू, 7 दिनों में दोगुनी हुई मरीजों की संख्या

पटना में कोरोना विस्फोट के बाद पटना को एक बार फिर से लॉकडाउन कर दिया गया है। पटना डीएम द्वारा पटना में लॉकडाउन के आदेश के मद्देनजर दानापुर मंडल कार्यालय को 10 से 16 जुलाई तक बंद किया गया है। ताकि मंडल के सभी कार्यालय भवन एवं परिसरों को सेनेटाइज किया जा सके। 

पटना में काल बन गया कोरोना, एक दिन में 7 मरीज की मौत, 2 के रिपोर्ट का इंतजार

इस दौरान जिलों के अंतर्गत आने वाले रेल परिचालन से जुड़े कार्यालय को खोला गया है, जैसे दानापुर रेल मंडल कन्ट्रोल, पटना जंक्शन के परिचालन से सम्बंधित कार्यालय जिले के अंतर्गत विभिन्न स्टेशन मास्टर कार्यालय आदि। इन कार्यालयों में आने वाले सीमित रेल कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है कि वे कोरोना से बचाव से संबंधित दिये गए निर्देशों का पूर्ण पालन करते हुए अपना कार्य करेंगे। मसलन मास्क लगाना, हाथों को सेनेटाइज करना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना,थर्मल स्कैनिंग आदि।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें