दानापुर रेलवे अस्पताल में इलाज के दौरान रेलकर्मी की मौत, परिजनों ने नर्स को पीटा

Smart News Team, Last updated: Mon, 26th Apr 2021, 8:18 PM IST
  • दानापुर रेलवे अस्पताल में सोमवार को एक रेलकर्मी के कोरोना से मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में काफी हंगामा किया. परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर सही तरीके से इलाज नहीं करने का आरोप लगाया.
दानापुर रेलवे अस्पताल में इलाज के दौरान रेलकर्मी की मौत, परिजनों ने नर्स को पीटा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: कोरोना संक्रमण के इस बूरे दौर में भी लोग संयम नहीं बरत रहें हैं, परिजनों का इलाज ठीक से नहीं होने पर या इलाज के दौरान मृत्यु हो जाने पर लोग अपना आपा खो दे रहें हैं ऐसी खबरें कई जगह से आ रहीं हैं. ऐसी ही एक कहां दानापुर से है. दानापुर रेलवे अस्पताल में सोमवार को पटना जंक्शन के एसएसई कैरेज एंड वैगन आलोक कुमार की कोरोना से मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में काफी हंगामा किया. परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर सही तरीके से इलाज नहीं करने का आरोप लगाया. दानापुर रेलवे मंडल अस्पताल में एसएसई कैरेज एन्ड वैगन की मौत के बाद गुस्साए मृतक के बेटे ने आइसोलेशन वार्ड में ड्यूटी पर तैनात नर्स सरिता सिन्हा और प्रीति के उपर हमला कर दिया. 

इसके बाद गुस्साए नर्स, डॉक्टर, अस्पताल के सभी कर्मचारियों ने काम को ठप कर दिया. अस्‍पताल कर्मियों के काम ठप करने के बाद सीएमएस को बुलाया गया. लेकिन वे आने पर नर्स की बातों को सुनकर सीधे अपने चैम्बर में चले गए. सीएमएस ने कहा कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है। वहीं, अस्पताल में भर्ती होना मरीजों के दूसरे परिजनों ने ही बताया कि मरीजों की सही तरीके से देखभाल नहीं हो रही है.

पटना जंक्शन के स्टेशन मास्टर ने कोरोना संक्रमित पत्नी की हत्या कर उठाया ये कदम

अभी हाल ही में मरीजों के परिजनों द्वारा मारपीट किए जाने के बाद पुख्ता सुरक्षा की मांग को लेकर बृहस्पतिवार से कई विभागों के डॉक्टरों ने काम करना बंद कर दिया था. जिसके बाद पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा और एनएमसीएच प्रशासन की उपस्थिति में वहां जूनियर डॉक्टरों से हुई बातचीत और आश्वासन के बाद वे काम पर लौट गए थे.

पटना: तिलक समारोह से लौट रहे युवक की गोली मारकर हत्या, अपराधियों की तलाश में पुलिस

एनएमसीएच जूनियर डाक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ रामचंद्र कुमार ने सभी जूनियर डॉक्टरों के काम पर फिर से लौट आने की पुष्टि करते कहा था कि बृहस्पतिवार और शुक्रवार दोनों दिन कुछ विभागों में मरीज के परिचारकों द्वारा डॉक्टरों के साथ मारपीट की गयी थी जिसके बाद उन विभागों में डॉक्टर सुरक्षा व्यवस्था के अभाव में काम नहीं करने को विवश हुए थे. अभी 2 दिन पहले ही एनएमसीएच के डॉक्टर काम पर लौटे थे की दानापुर रेलवे हॉस्पिटल भी ऐसी ही घटना सामने आ गई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें