पटना एयरपोर्ट से विदेश की उड़ान, मधुबनी पेंटिंग और नालंदा खंडहर की दिखेगी छाप

Smart News Team, Last updated: 03/09/2020 12:04 PM IST
  • पटना एयरपोर्ट से अब विदेशों के लिए लिए विमान सेवाएं शुरु होगी . एयरपोर्ट सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस होने के साथ ही बिहार की सांस्कृतिक विरासत को भी प्रदर्शित करेगा जिसके लिए इसे नालंदा के खण्डहरों का लुक दिया जाएगा. एयरपोर्ट पर मधुबनी पेंटिंग और टिकुली कला की झलक देखने का मौका मिलेगा.
पटना एयरपोर्ट

पटना: पटना एयरपोर्ट को अब अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लायक बनाया जाएगा. बिहटा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट निर्माण प्रस्तावित के निर्माण बावजूद यह फैसला लिया गया. पटना एयरपोर्ट पर भी हर तरह की सुविधा होगी, जो अंतराष्ट्रीय उड़ान वाले एयरपोर्ट पर होती है. एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन काउंटर होंगे साथ ही कस्टम विभाग के अधिकारियों की भी तैनाती होगी. 

जानकारी के मुताबिक पटना एयरपोर्ट को अब अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के मानकों के आधार पर विकसित किया जाएगा. अब भविष्य में नेपाल और अन्य जगहों पर छोटे जहाजों के जरिये अंतर्राष्ट्रीय उड़ान संभव हो सकेगी है. इसके साथ  ही एयरपोर्ट  परिसर को विस्तार देने के लिए निर्माण का काम शुरू हो गया है लेकिन कार्यों में देरी के कारण ये अब 2022 में निर्माण कार्य पूरा न होकर 2023 में यह पूरा हो सकेगा. अभी पटना एयरपोर्ट पर 4.5 मिलियन पैसेंजर हर साल आते-जाते हैं. नए निर्माण के बाद यह 8 मिलियन पैसेंजर की सालाना क्षमता वाला हो जाएगा. 

एयरपोर्ट के निर्माण में कुल 1216.90 करोड़ की राशि खर्च की जाएगी. शानदार टर्मिनल बिल्डिंग के अलावा पटना एयरपोर्ट पर मल्टीलेवल कार पार्किंग, कार्गो कॉम्प्लेक्स, एयरपोर्ट फायर स्टेशन, एटीसी सह प्रशासनिक भवन बनेंगे. एयरपोर्ट में पांच मंजिला पार्किंग एरिया बनाया जाएगा. इस पार्किंग में कुल 750 वाहनों को पार्क किया जा सकेगा. साथ ही टर्मिनल बिल्डिंग में भी जगह-जगह मधुबनी पेंटिंग और टिकुली कला की झलक दिखने को मिलेगी. एयरपोर्ट का लुक नालंदा के खंडहर की तरह का होगा. परिसर के सामने एक शानदार बाग भी बनाया जाएगा, जिसे मधुबन नाम दिया गया है. ऊर्जा संरक्षण और हरित पट्टी का ध्यान भी रखा जाएगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें