फ्लाइट से इन राज्यों में जाने की सोच रहें तो खास बातों का रखें ध्यान,ये हैं नियम

Smart News Team, Last updated: Thu, 19th Aug 2021, 8:28 AM IST
  • देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए राज्य सरकारों ने दूसरे राज्य से आने वाले यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी किए है. अगर आप भी फ्लाइट से घरेलू यात्रा करने की सोच रहे हैं तो आपके लिए यह जानना जरूरी है कि किन राज्यों में कोरोना को लेकर नए नियम बनाए गए हैं.
फ्लाइट से इन राज्यों में कोरोना टेस्ट रिपोर्ट जरूरी. फोटो साभार-लाइन दिन्दुस्तान

पटना: कोरोना काल में फ्लाइट से यात्रा करने के लिए एयरपोर्ट में यात्रियों को कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करना पड़ेगा. अगर आप एक राज्य से दूसरे राज्य हवाई यात्रा करने की सोच रहे हैं तो टिकट बुक करने से पहले कुछ जरूरी बात जान लें. अगर आपको कोरोना के दौरान यात्रा के नए नियम नहीं मालूम रहें तो आप एयरपोर्ट पर फंस सकते हैं या फिर खुद के खर्चे पर क्वारंटाइन भी रहना पड़ सकता है. इसलिए ये बेहद जरूरी हो जाता है कि राज्य द्वारा हवाई यात्रा के दौरान कोविड दिशा निर्देशों को ध्यान में रखकर आप अपना टिकट बुक करें.

पटना एयरपोर्ट प्रशासन ने यात्रियों से अपील की है कि वे पटना सहित देश के किसी भी हिस्से के लिए सफर कर रहे हैं तो वहां के नियमों को जान लें, कहां कोरोना रिपोर्ट की जरूरत है और कहां नहीं. पटना की ही तरह अलग -अलग राज्यों पर कोरोना के अलग अलग नियम है. कुछ राज्यों में 48 घंटे तो कहीं 72 घंटे पहले की कोरोना आरटीपीसीआर कोरोना निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट जरूरी है.

यहां राज्यों में फ्लाइट यात्रियों के लिए टेस्ट की जरूरत है-

झारखंड और केरल के लिए- रांची एयरपोर्ट जा रहे हैं तो 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है. वहीं केरल के कन्नूर या कोच्चि एयरपोर्ट जाने के लिए भी 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है.

उत्तर प्रदेश के लिए- मुंबई, ठाणे, नागपुर गोवा, हैदराबाद, कोच्चि, कन्नुर और भुवनेश्वर से उत्तरप्रदेश के वाराणसी और लखनऊ जाने वाले हवाई यात्रियों के लिए भी 72 घंटे पहले का कोरोना जांच रिपोर्ट दिखाना होगा.

पंजाब के लिए- चंडीगढ़ जाने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले का आरटीपीसीआर टेस्ट निगेटिव रिपोर्ट जरूरी होगा. लेकिन दस साल तक के बच्चों को छूट होगी. साथ ही वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके व्यक्ति को भी रिपोर्ट की जरूरत नहीं.

असम के लिए-असम गुवाहाटी के लिए 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआ निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट जरूरी होगी. साथ ही जिन यात्रियों ने वैक्सीनेशन का दोनों डोज लिया उन्हें इसका प्रमाण दिखाना होगा.

गोवा के लिए- गोवा के लिए भी 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है. साथ ही आप गोवा किसी रोजगार या काम को लेकर जा रहे हैं तो वैक्सीन की दोनों डोज जरूरी होगी. साथ ही गोवा निवासी के लिए भी वैक्सीन की फाइनल डोज का सर्टिफिकेट जरूरी है.

महाराष्ट्र के लिए- महाराष्ट्र में मुबंई, नागपुर, पुणे एयरपोर्ट जाने के लिए बी 72 घंटे पहले का आरटीपीसीआर निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट जरूरी है. यात्रा से 15 दिन पहले वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके यात्रियों को महाराष्ट के ही किसी राज्य में यात्रा के लिए रिपोर्ट की जरूरत नहीं होगी.

जम्मू के लिए- जम्मू एयरपोर्ट प्रशासन ने यात्रियों के लिए 48 घंटे पहले का आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है. वहीं दो साल तक के बच्चों को इसकी छूट होगी.वहीं लद्दाख के लिए 96 घंटे पहले का आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य होगा. साथ ही अगर आप बिना जांच रिपोर्ट के जम्मू जाते हैं आपको अपने खर्चे पर क्वारंटीन कर दिया जाएगा.

राजस्थान व श्रीनगर- राजस्थान से जयपुर जाने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले का कोरोना आरटीपीसीआर टेस्ट निगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा. साथ ही सिंगल डोज वैक्सीन ले चुके यात्रियों को छूट होगी.

किसानों के नुकसान की भरपाई करेगी योगी सरकार, बाढ़ में बर्बाद फसल का देगी मुआवजा

कर्नाटक के लिए- बंगलूर और मंगलोर एयरपोर्ट पर महाराष्ट्र कन्नूर और कोचिन आने वाले यात्रियों को भी 72 घंटे पहले का आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा. लेकिन सरकारी कर्मचारियों, चिकित्सा सेवाओं से जुड़े लोगों को छूट दी गई है. वहीं अगर परिवार में किसी की मौत हुई है या आप किसी इलाज के लिए जा रहे हैं तो आफको एयरपोर्ट पर जांच प्रक्रिया से गुजरना होगा.

उड़ीसा के लिए- उड़ीसा के एयरपोर्ट जाने के लिए आपको 48 घंटे पहले का आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा. वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके यात्रियों को छूट होगी. वैक्सीनेशन रिपोर्ट या आरटीपीसीआर रिपोर्ट ना दिखाने पर यात्री को उनके खर्चे पर सात दिनों के लिए क्वांटीन किया जाएगा.

पोर्ट ब्लेयर के लिए- पोर्ट ब्लेयर एयरपोर्ट जाने वाले यात्री को 48 घंटे पहले का आरटीपीसीआर निगेटिव जांच रिपोर्ट दिखाना होगा. रैपिट एंटीजेन जांच पॉजिटिव पाए जाने पर इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में भेजा जाएगा. साथ ही एक साल तक के बच्चों को छूट होगी.

तालिबानियों की हिंदुत्व से तुलना कर फंसी स्वरा भास्कर, यूपी में FIR दर्ज

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें