पटना

क्या पटना में लॉकडाउन सियासी चाल है? यशवंत सिन्हा ने नीतीश सरकार पर बोला हमला

Smart News Team, Last updated: 11/07/2020 04:32 PM IST
  • पटना में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच 10 जुलाई से 16 जुलाई तक लॉकडाउन लगा दिया गया है। मगर इस लॉकडाउन पर भी अब सियासत तेज हो गई है। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को पटना लॉकडाउन सियासी चाल नजर आ रहा है।
Yashwant Sinha File Photo

पटना में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच 10 जुलाई से 16 जुलाई तक लॉकडाउन लगा दिया गया है। मगर इस लॉकडाउन पर भी अब सियासत तेज हो गई है। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को पटना लॉकडाउन सियासी चाल नजर आ रहा है। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने ट्वीट कर कहा है कि राज्य सरकार उनके विभिन्न जिलों में चल रही जनसंवाद रैलियों से डर गई। इसलिए लॉकडाउन लगा दिया है।

हड़कंप: पटना में अब तक का सबसे बड़ा कोरोना विस्फोट, 35 BMP जवान समेत 382 पॉजिटिव

यशवंत सिन्हा ने कहा कि पटना में जानबूझकर लॉकडाउन लगाना एक सियासी चाल है। यह विपक्ष को रोकने की एक साजिश है। इतने दिनों से करोना फैल रहा था, तब लॉकडाउन क्यों नहीं लगाया गया? उन्होंने आगे कहा कि सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ही हमारा जनसंवाद चल रहा था। अब सोशल मीडिया के माध्यम से भी जनसंवाद जारी रहेगा।

प्रशांत किशोर भी नहीं चाहते कोरोना काल में चुनाव, कहा-ये कोविड से लड़ने का वक्त

उन्होंने ट्वीट किया, ‘हमारा जिलों का कार्यक्रम दो दिन बहुत अच्छा चला। अन्य लोगों की तुलना में हम लोग इस महामारी में भी लोगों से सीधा संपर्क स्थापित करने में कामयाब हो रहे थे। अब अचानक लोकडाउन लगा दिया गया। क्या सरकार डर गई? लोकतंत्र इसी तरह चलेगा?’

गौरतलब है कि पटना समेत कई जिलों में लॉकडाउन लगाया गया है और सरकार का तर्क है कि कोरोना वायरस के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए ऐसा कदम उठाया गया है। राजधानी में भी पटना डीएम ने सात दिनों का लॉकडाउन लगाया है, जो 16 जुलाई तक प्रभावी रहेगा।

 

अन्य खबरें