ललन सिंह ने लालू यादव के बयान पर किया पलटवार, कहा- कसाई के श्राप से गाय पर असर नहीं होता

Somya Sri, Last updated: Thu, 28th Oct 2021, 3:00 PM IST
  • जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि अब आप बताएं कसाई के श्राप से गाय को कोई असर होता है क्या? लालू यादव इसी तरह के संस्कृति के प्रतीक रहे हैं. ललन सिंह ने कहा कि बिहार में 15 वर्षों तक वह इसी संस्कृति के साथ काम करते रहे. राजा की तरह एक कुर्सी पर बैठना दूसरे पे पैर रखना. नीतीश कुमार ने 16 साल मेहनत कर बिहार को सजाया है.
जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह (फाइल फोटो)

पटना: बिहार की पॉलिटिक्स में एक बार फिर से हलचल तेज है. इसका कारण है राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू यादव का बयान. पिछले दिनों उन्होंने कांग्रेस पर हमला किया था. तो हाल ही में उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसा था. लालू यादव ने कहा था कि वे नीतीश कुमार का विसर्जन कर देंगे. अब इस बयान पर जदयू नेता ललन सिंह ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि कसाई के श्राप से गाय को कोई असर होता नहीं है.

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि अब आप बताएं कसाई के श्राप से गाय को कोई असर होता है क्या? लालू यादव इसी तरह के संस्कृति के प्रतीक रहे हैं. ललन सिंह ने कहा कि बिहार में 15 वर्षों तक वह इसी संस्कृति के साथ काम करते रहे. राजा की तरह एक कुर्सी पर बैठना दूसरे पे पैर रखना. नीतीश कुमार ने 16 साल मेहनत कर बिहार को सजाया है.

अब टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों में भी होंगे 4 साल के इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स

ललन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार की पहचान बनाई, सड़क बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य और इन सब के अलावा कानून व्यवस्था को दुरुस्त किया. आज लोगो में भय का वातावरण समाप्त हो चुका है. लालू यादव समाज के हर तबके को आतंकित कर के रखते थे. सवर्ण समाज से नफरत करते थे. अति पिछड़े के लोगों को भय में रखते थे. पिछड़े वर्गों को प्रताड़ित करते थे और नीतीश कुमार ने सवर्ण समुदाय को भी स्वतंत्र घूमने का अवसर दिया. उन्होंने सारी सुविधाएं दीं.

उन्होंने आगे कहा था कि नीतीश कुमार ने अतिपिछड़े को जुबान दी, पिछड़े वर्गों के साथ न्याय किया. अब जो काम नीतीश कुमार ने किया है उसका लालू यादव विसर्जन करेंगे? ललन सिंह ने कहा कि इतने दिनों तक होटवार जेल में वो स्वतंत्रता आंदोलन में गए थे क्या? भ्रष्टाचार में गए थे जेल, चारा घोटाला में गए थे जेल, गरीबों के जानवरों के चारा में उन्होंने घोटाला किया था. इन्हें कोई शर्म लिहाज भी नहीं है. लालू यादव के कुछ भी कहने का मूल्य नहीं है. वो क्या बोलते हैं और क्या करते हैं उसका कोई अंतर नहीं है.

पार्क के पास मिला युवक का शव, परिवार ने दोस्त पर लगाया हत्या का आरोप

मालूम हो कि हाल ही में लालू प्रसाद ने चुनावी सभा के दौरान कहा था कि वह जदयू का विसर्जन करने आए हैैं. लालू के इस बयान पर सीएम नीतीश कुमार ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि गोली मरवा दें, बाकी वे कुछ कर नहीं सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें