बिहार चुनाव लड़ने वाले दावेदारों की भीड़ उमड़ी, CM नीतीश ने सभी को सुना 5 घंटे

Smart News Team, Last updated: Wed, 23rd Sep 2020, 8:17 AM IST
पटना में जेडीयू के प्रदेश मुख्यालय में बिहार चुनाव लड़ने के लिए अपनी दावेदारी पेश करने बड़ी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता पहुंचे. सीएम नीतीश ने धैर्य से पांच घंटों तक सभी कार्यकर्ताओं को सुनकर समझाया कि पहले बीजेपी से सीटों के बंटवारे पर बात होने दें.
बिहार चुनाव लड़ने वाले दावेदारों की भीड़ उमड़ी.

पटना. जेडीयू के प्रदेश मुख्यालय के बाहर बिहार विधानसभा 2020 का चुनाव लड़ने की चाहत रखने वाले दावेदार बड़ी संख्या में उमड़े. जेडीयू के यह कार्यकर्ता बिहार के सीएम और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे थे. वहीं सभी ने अपने पुरजोर तरह से चुनाव लड़ने का दावा रखा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी धैर्य के साथ सभी को सुना और कई दावेदारों को समझाया कि पहले बीजेपी के साथ गठबंधन की सीटों का बंटवारा होने दें उसके बाद देखा जाएगा कि किसे चुनाव की टिकट देनी है.

जानकारी के लिए बता दें कि पिछले कुछ समय से सीएम कोरोना लॉकडाउन के कारण किसी से नहीं मिल रहे थे. बड़ी संख्या में कार्यकर्ता सीएम से मिलना चाहते थे. कुछ लोगों को सीएम ने मंगलवार को शाम 4 बजे मिलने के लिए पार्टी के ऑफिस बुलाया. जिन्हें सीएम से मिलने का अवसर मिला उन्हें पहले ही सूचना दी गई थी. 

बिहार चुनाव: डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का वीआरएस, एसके सिंघल नए पुलिस महानिदेशक

सीएम नीतीश कुमार 4 बजे से पहले ही जेडीयू कार्यालय आ गए थे. वहीं साथ में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा और भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी भी मौजूद थे. 

बिहार में चुनाव आयोग निर्देशों का उल्लघंन, HC ने नीतीश सरकार, EC से मांगा जवाब

मुख्यमंत्री नीतीश नवनिर्मित कर्पूरी सभागार में बैठे. सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए सीएम ने एक-एक करके सबसे बात की. इस वार्ता को संभव करने में जेडीयू के राष्ट्रीय सचीव रवींद्र सिंह, पूर्व एमलसी संजय गांधी, प्रदेश महासचिव डॉ. नवीन कुमार आर्य और अनिल कुमार का हाथ है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें