कानपुर एनकाउंटर में शहीद हुए आगरा के सिपाही बबलू, तय हो गई थी शादी, मचा कोहराम

Smart News Team, Last updated: 03/07/2020 01:36 PM IST
  • कानपुर में एक हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने घेरकर गोलियों की बरसात कर दी, जिसमें डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिस के जवान शहीद हो गए हैं।
फोटो- शहीद पुलिस जवान बबूल 

कानपुर में एक हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने घेरकर गोलियों की बरसात कर दी, जिसमें डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिस के जवान शहीद हो गए हैं। कानपुर में अपराधी को पकड़ने गई एनकाउंटर टीम में आगरा का एक सपूत भी था, जो बदमाशों से लोहा लेने के दौरान शहीद हो गया। फतेहाबाद के पोखर पांडे नगला लोहिया निवासी बबलू की उम्र 22 साल थी और वह बिठूर थाने में तैनात थे। 

कानपुर एनकाउंटर में उनके शहीद होने की जानकारी मिलने पर घर और आसपास में कोहराम मच गया। शहीद बबलू चार भाई हैं। दो बड़े भाई की शादी हो चुकी है और मेहनत मजदूरी कर अपना परिवार चलाते हैं। चौथे नंबर का भाई इंटर में पढ़ रहा है। बबलू भाईयों में तीसरे नंबर पर थे। उनकी पांच बहने हैं। परिवार में मां गुजर चुकी है और पिता दिव्यांग हैं औरर किसी तरह मेहनत मजदूरी करते हैं। 

आगरा के बबलू हुए शहीद, परिवार का रो-रो कर बुरा हाल

गुरुवार शाम शहीद बबलू ने अपने बड़े भाई दिनेश से फोन पर परिवार का हाल-चाल लिया था। परिवार वालों का कहना है कि कल बातचीत के दौरान वह काफी खुश थे। वह 3 जून को छुट्टी पर घर आए थे और 9 जून को वापस ड्यूटी पर चले गए थे। 

इस घटना के बाद से गांव में शोक का माहौल है। चारों भाई एक साथ रहते हैं। बबलू पर ही पूरे परिवार का दारोमदार था। बबलू की राजस्थान से शादी तय हो गई थी, जो देवथान पर होनी थी।

अन्य खबरें