पटना: दरिंदगी की हद पार! अगवा कर दो ने किशोरी का पांच दिन तक किया रेप

Smart News Team, Last updated: 14/09/2020 07:50 AM IST
  • पटना के खुसरूपुर से किशोरी को अगवा करके पत्रकारनगर इलाके में गैंगरेप को अंजाम दिया गया. अधेड़ उम्र के मकान मालिक और उसके दोस्त ने नशीला स्प्रे छिड़ककर किशोरी को किडनैप किया और उसके बाद पांच दिनों तक उसके साथ बलात्कार करते रहे. 
पटना में किशोरी को अगवा कर मकान मालिक ने दोस्त संग पांच दिनों तक रेप किया.

पटना. पटना के खुसरूपुर से अगवा हुई नालंदा की किशोरी को बंधक बनाकर पत्रकारनगर इलाके में गैंग रेप किया गया. अपहरण और बलात्कार करने का आरोप अधेड़ मकान मालिक अलख सिंह और उसके दोस्त शैलेंद्र कुमार पर लगाया गया है. दरिंदगी के मामले में पीड़िता की तरफ से खुसरूपुर थाने में दोनों आरोपियों के खिलाफ बलात्कार, पॉक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

पटना पुलिस सोमवार को पीड़िता का मेडिकल कराने के साथ कोर्ट में भी बयान दर्ज कराएगी. पुलिस ने पीड़िता को अपनी निगरानी में रखा है. पीड़िता की एफआईआर के अनुसार वह नालंदा जिले की रहने वाली है और अपने परिवार के साथ खुसरूपुर में किराए के मकान में रहती है. 5 सितबंर को वह स्कूल से टीसी लेने जा रही थी. रास्ते में बैठकपुर बगीचे के पास उसका मकान मालिक अलख सिंह अपने दोस्त शैलेंद्र प्रसाद के साथ बाइक पर आया. वहां आकर दोनों ने लड़की से बात की और इसी बीच नाक पर रुमाल झाड़ दिया. जिसके बाद युवती बेहोश हो गई. 

चमत्कार! जिंदा हुआ मुर्दा: दाह संस्कार की तैयारी के बीच हिली ऊंगली, चली सांस

नशीली दवा छिड़कने के बाद युवती को अगवा करा गया. पीड़िता के अनुसार जब उसे होश आया वह एक अंधेरे कमरे में बंद थी. इसके बाद मकान मालिक और उसके दोस्त ने जबरदस्ती खाना खिलाया और बारी-बारी से रेप किया. दूसरे दिन पीड़िता को पता चला कि यह कमरा शैलेंद्र का है और वह पटना के पत्रकारनगर में है. पीड़िता को पांच दिन बंधक बनाकर बलात्कार किया गया. 

पत्नी को ही तीन लाख रुपये में बेचने पहुंचा पति तो हुआ हैरान करने वाला खुलासा!

पीड़िता के अनुसार 12 सितंबर को शैलेंद्र का पुत्र रविरंजन कुमार पत्रकारनगर स्थित कमरे पर आया तो उसने अपनी आपबीती सुनाई. इसके बाद रविरंजन ने उसने भागने में मदद की. वहां से भागते ही वह पुलिस के पास पहुंची और प्राथमिकी दर्ज कराई. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें