चाईबासा चारा घोटाले मामले में लालू को मिली जमानत, फिलहाल जेल में ही रहेंगे

Smart News Team, Last updated: 09/10/2020 01:54 PM IST
  • चाईबासा चारा घोटाले के केस में लालू को झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिल गयी लेकिन एक और केस में अभी जमानत नहीं मिली है जिसके कारण उन्हें फिलहाल अभी जेल में ही रहना होगा.
चाईबासा चारा घोटाले के केस में लालू को झारखंड हाईकोर्ट से जमानत

पटना.बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख रहे चर्चित नेता लालू प्रसाद को चारा घोटाले से जुड़े एक और मामले में राहत मिली है. चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद को रांची हाई कोर्ट से जमानत मिली है. रांची हाईकोर्ट के जज अपरेश कुमार सिंह की अदालत द्वारा इस मामले में आधी सजा काट लेने के आधार पर दो लाख रुपए और 50-50 हजार रुपये की सिक्योरिटी मनी पर उन्हें जमानत दे दी गई है.हालांकि लालू प्रसाद यादव अभी जेल से नहीं निकल पाएंगे क्योंकि दुमका कोषागार के मामले में उनकी आधी सजा पूरी नहीं हुई है.

दरअसल, लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के अलग- अलग तीन मामलों में सजा हुई थी. उन्हें दो मामलों में जमानत मिल चुकी है लेकिन फिलहाल जेल से बाहर आने के लिए एक और मामले में जमानत लेनी पड़ेगी.

अंतिम दर्शन को रखा रामविलास पासवान का पार्थिव शरीर, PM संग दिग्गज नेता पहुंचे

आपको बता दें कि लालू प्रसाद यादव पर चारे के नाम पर चाईबासा, देवघर और दुमका ट्रेजरी से अवैध तरीके से पैसे निकालने के मामलों में सजा हुई थी. जबकि उन्हें देवघर केस में 2019 में ही जमानत मिल चुकी है और वहीं अभी दुमका केस में जमानत नहीं मिली है.

चाईबासा कोषागार से 33.67 करोड़ रुपये की अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद को पाँच साल की सजा हुए थी.मामले में बिहार के दो पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद और जगन्नाथ मिश्र सहित कुल 736 आरोपी बनाये गए. कोषागार से गलत तरीके से धन निकासी के मामले में लालू प्रसाद यादव को रांची की सीबीआई कोर्ट ने पांच वर्ष की सजा सुनाई.इस मामले में उन्होंने आधी सजा काट लेने को आधार बनाकर जमानत देने की गुहार लगाई थी.फिलहाल वह अन्य मामले के चलते रिहा नहीं हो सकते पर बिहार चुनाव से पहले आया फैसला राजद कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने वाला है.

2 साल से अधिक समय से जेल में हैं लालू प्रसाद यादव

देवघर ट्रेजरी केस के घोटाले में लालू प्रसाद यादव को 23 दिसम्बर 2017 को दोषी करार दिया था, तभी से वह जेल में है और 17 मार्च 2018 को तबीयत बिगड़ने पर उन्हें पहले रिम्स, फिर दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था.

फिलहाल इलाज के लिए कोर्ट ने 11 मई 2018 को उन्हें छह हफ्ते की जमानत दी थी जिसे बढ़ाकर 14 अगस्त, फिर 27 अगस्त 2018 कर दिया था.

आपको बता दें कि कोर्ट ने 30 अगस्त 2018 को लालू को कोर्ट में सरेंडर करने का निर्देश दिया था और इसी के बाद से वे रिम्स में भर्ती हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें