सौतेली बहन से मिलकर रो पड़े चिराग पासवान, बागी बहनोई अनिल साधु स्तब्ध

Smart News Team, Last updated: Tue, 6th Jul 2021, 12:36 PM IST
  • रामविलास पासवान के जयंती के मौके चिराग पासवान ने आशीर्वाद यात्रा का आयोजन किया. इस यात्रा के दौरान चिराग राजेन्द्रनगर में सौतेली बहन आशा पासवान के घर पहुंचे. घर पहुंचने पर दोनों बहन-भाई ( आशा और चिराग ) फूट-फूटकर रोने लगे. 
आशीर्वाद यात्रा के दौरान सौतेली बहन आशा पासवान के घर पहुंचे चिराग पासवान.( फोटो - अनिल कुमार साधु ट्विटर )

पटना: बिहार में इन दिनों राजनीति पर रिश्तों की डोर ज्यादा मजबूत नजर आती है. सोमवार को राजनीति में कुछ ऐसा देखने को मिला, जिसके बाद बड़े नेता निःशब्द और स्तब्ध रह गए. बता दें कि कल यानि 5 जुलाई को लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय रामविलास पासवान की जयती थी. रामविलास पासवान की जयंती के मौके पर निकाली जा रही 'आशीर्वाद यात्रा' के दौरान चिराग अपनी सौतेली बहन आशा पासवान के घर पहुंच गए. घर पहुंचते ही चिराग अपनी बड़ी से गले मिलकर फूट-फूटकर रोने लगे.

चिराग के आशा पासवान से गले लगकर रोने पर उनके बहनोई अनिल कुमार साधु ने कहा, "रिश्तों की डोर के आगे राजनीति बेबस हो जाती है स्वर्गीय पिताजी की जयंती का अवसर था आज मेरे घर पर एक भाई अपनी बहन से मिलने आ गया. फिर भावनाओं का सागर उमड़ पड़ा भाई ने बहन को गले से लगा लिया दोनों सिसक रहे थें बहन ने भी भाई पर प्यार लुटाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी. मैं निःशब्द था, स्तब्ध था... बस देख रहा था...भावनाओं के सागर के समक्ष मैं तमाशबीन था."

पूर्व JDU विधायक मनजीत सिंह करेंगे घर वापसी, जल्द ज्वाइन कर सकते हैं पार्टी

इस कदम से बहन और भाई के बीच के रिश्ते की बीच खटास कम होती नजर आ रही है. राजनीति विशेषज्ञ का मानना है कि इससे पहले चिराग पासवान की मजबूती मिलेगी. बता दें कि रामविलास पासवान ने पहली शादी राजकुमारी देवी से 1960 में की थी. आशा पासवान उनकी सबसे बड़ी बेटी है. 1981 मे रामविलास ने राजकुमारी देवी को तलाक दे दिया था. इसके बाद रामविलास ने 1983 में दूसरी शादी चिराग पासवान की मां रीना शर्मा से की थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें