बिहार चुनाव में LJP की हार के बाद चिराग पासवान ने भंग की सभी कमेटी

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 07:12 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में बुरी तरह से हार के बाद चिराग पासवान की लोजपा ने प्रदेश की इकाई समेत सभी प्रकोष्ठ और जिला कमेटी को भंग किया गया. दो महीने के अंदर लोजपा नई कमेटियों का गठन करेगी.
बिहार विधानसभा चुनाव में हार के बाद लोजपा ने सभी कमेटियों को भंग किया.

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में हार के बाद चिराग पासवान की लोजपा ने प्रदेश की इकाई समेत सभी प्रकोष्ठ और जिलों की कमेटी को भंग कर दिया गया है. दो महीने के भीतर लोजपा नई कमेटियां गठित करेगी. आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में चिराग पासवान की लोजपा सिर्फ एक ही सीट जीत पाई थी. जिसके बाद लोजपा ने ये बड़ा फैसला लिया है.

चिराग पासवान की लोजपा अगले दो महीनों में प्रदेश के सभी कमेटियों को गठन करेगी. बिहार विधानसभा चुनाव में हुई बड़ी हार को देखते हुए ये फैसला लिया गया है. बिहार चुनाव में चिराग पासवान की लोजपा एनडीए  से अलग होकर 135 सीटों पर चुनाव लड़ी थी. चुनाव में लोजपा जदयू के खिलाफ हमलावर रही थी. 

राज्यसभा उपचुनाव: सुशील कुमार मोदी ने किया नामांकन, सीएम नीतीश रहे मौजूद

बिहार विधानसभा चुनाव में लोजपा ने ज्यादातर उन सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे जहां जदयू उम्मीदवार मैदान में थे. कुछ सीटों पर बीजेपी के खिलाफ भी लोजपा ने अपने उम्मीदवार उतारे थे. बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की जदयू को झटका लगा है. जदयू इस चुनाव में सिर्फ 43 सीटों पर ही जीत पाई. इसके अलावा बीजेपी 74 और राजद ने 75 सीटों पर जीत दर्ज की है.

बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सुबोध मेहता ने छोड़ी उपेन्द्र कुशवाहा की रालोसपा

आपको बता दें कि पहली बार विधानसभा चुनाव में लोजपा अकेली लड़ी और बुरी तरह से हारी भी. 2015 में एनडीए के साथ लोजपा 45 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और सिर्फ दो सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई थी. 2005 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ चुनाव लडते हुए लोजपा ने 29 सीटों पर जीत दर्ज की थी हालांकि उसी साल फिर से विधानसभा चुनाव हुए. जिनमें लोजपा सिर्फ 10 सीट ही जीत पाई थी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें