बिहार में कोरोना ने छीनी कइयों की जिंदगी, जिसमे लेखक, कलाकार भी शामिल

Smart News Team, Last updated: Fri, 14th May 2021, 3:22 PM IST
  • बिहार में कोरोना वायरस की दूसरी लहर में कई लेकर और कलाकारों की जान जा चुकी है. जिसमे बिहार गौरव गान लिखने वाले तो नागार्जुन के बेटे का नाम भी शमिल हो गया है. धीरे धीरे इस सूचि में कई बड़े कलाकारों, लेखकों, रचनाकरों, चित्रकारों, पत्रकारों का नाम जुड़ता जा रहा है.
बिहार में कोरोना ने छीनी कइयों की जिंदगी, जिसमे लेखक, कलाकार भी शमिल

पटना. जबसे कोरोना महामारी की दूसरी लहर शुरू हुई है तबसे हजरों लोगों की जान जा चुकी है. वही साथ में कोरोना माहमारी की दूसरी लहर में दर्जनों लेखक, चित्रकार, संगीतकार, पुरातात्विक भी अपनी जान गवा चुके है. जिसमे बड़े से बड़े नाम शामिल है. वही हाल ही में कोरोना संक्रमण के कारण बिहार गौरव गान के लेखक डॉ शांति जैन का निधन हो गया. वही इन्होंने वर्षों तक आकशवाणी पर रामचरितमानस का प्ररिपादन किया था. 

इन्ही की तरह ही इस कोरोना की दूसरी लहर ने लेखक रविन्द्र राजहंस, बिहार संगीत नाटक अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष प्रो शैलेंश्वर सती प्रसाद और नागार्जुन के बेटे प्रशिद्ध लेखक और पत्रकार सुकान्त नागार्जुन का भी देहांत हो गया है. वही गुरुवार को कला और शिल्प कला विभाग के शिक्षक अविनाश दस का भी कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया. 

LJP अध्यक्ष चिराग पासवान हुए कोरोना के शिकार, हुई हालत गंभीर

इतना ही नहीं हाल ही में कुछ सप्ताह पहले ही मैथिली थिएटर कलाकार कुमार गगन का भी कोरोना के चक्कते निधन हो गया. वही मैथली रंगमंच के एक और कलाकार मनोज मनुज की भी मृत्यु कोरोना के कारण हो गई. कोरोना के कारण हाल ही में बनारस घराने के तबला वादक शिव कुमार सिंह का भी निधन हो गया. उन्होंने ग्रैमी पुरस्कार जितने वाले तबला वादक संदीप दास को शिक्षा दी थी. 

पप्पू यादव की तबियत खराब डीएमसीएच के आईसीयू में भर्ती, CM नीतीश से कहा हमें....

कोरोना की दूसरी लहर ने शास्त्रीय गायक उस्ताद इरसाद खान की भी जान ले ली. वही कोरोना संक्रमण से मरने वालों में पुरातात्विक अनिल कुमार, पुरालेखपाल विजय कुमार और प्रशिद्ध लेखक सुरेंद्र यादव का भी नाम शामिल हो गया है. जिनकी कोरोना माहमारी की दूसरी लहर के दौरान कोविड संक्रमण होने से मौत हो गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें