पटना में मॉब लिंचिंग, चोरी के आरोप में पीटकर मारा, केस दर्ज

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 11:30 AM IST
  • स्थानीय लोगों का आरोप है कि शुक्रवार की देर रात रफीक आंबेडकर कॉलोनी के घर में घुस गया था. चश्मदीदों का कहना है कि रफीक को पीटने वाली भीड़ गुस्से में थी. चोर-चोर की आवाज सुनते ही लोग इकट्ठा हुए और बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी.रफीक की मां के बयान को दर्ज करते हुए पुलिस ने मामले को दर्ज कर लिया है.
प्रतीकात्मक फोटो

पटना. शुक्रवार की रात राजधानी पटना में चोरी के आरोप के चलते एक युवक भीड़ ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया. घटना सुल्तानगंज थाना के अंतर्गत आंबेडकर कॉलोनी बताई जा रही है. मरने वाले का नाम रफीक  है और वो सुल्तानगंज थाना के ही इलाके में दरगाह रोड़ पर किराये के मकान में रहता था. पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

घटनास्थल के स्थानीय लोगों का आरोप है कि शुक्रवार की देर रात रफीक आंबेडकर कॉलोनी के घर में घुस गया था. घर के मालिक की नींद खुली तो उसने शोर मचाना शुरु कर दिया जिसे सुनकर आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई. इसके बाद भीड़ ने रफीक को पकड़ा और उसकी पिटाई करनी शुरु कर दी.घटना की सूचना मिलते ही सुल्तानगंज थानेदार शेर सिंह यादव घटनास्थल पर पहुंचे और आरोपित युवक को भीड़ से बचाते हुए घायल को तुरंत अस्पताल पहुंचाया. जिसके बाद शनिवार की सुबह करीब नौ बजे आरोपी की पीएमसीएच में मौत हो गई.

बिहार के इन 27 पूर्व प्रत्याशियों के चुनाव लड़ने पर रोक, चुनाव आयोग ने बताया वजह

इसके बाद उसके शव का पोस्टमार्टम करवाया गया. चश्मदीदों का कहना है कि रफीक को पीटने वाली भीड़ गुस्से में थी. चोर-चोर की आवाज सुनते ही लोग इकट्ठा हो गये और रफीक को बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी. रफीक की मां का कहना है कि उसका बेटा घर लौट रहा था लेकिन साजिश के तहत उसे भीड़ ने पीट दिया. जिसके चलते रफीक की मौत हो गई. रफीक की मां के बयान को दर्ज करते हुए पुलिस ने मामले को दर्ज कर लिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें