पटना नगर निगम लगाएगी घरों के बाहर क्यूआर कोड, कचरा उठाते ही होगा ग्रीन

Smart News Team, Last updated: Wed, 23rd Sep 2020, 9:07 AM IST
  • पटना नगर निगम ने कूड़ा-कचरा उठाने की निगरानी रखने के लिए क्यूआर कोड स्कैन किया जाएगा. होल्डिंग टैक्स जमा करने वाले पांच लाख घरों के बाहर क्यूआर कोड लगेगा जो कूड़ा उठाने के बाद तुरंत ग्रीन हो जाएगा. निगम ने लेखा-जोखा रखने के लिए निगम मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष बनाया है.
पटना नगर निगम लगाएगी घरों के बाहर क्यूआर कोड, कचरा उठाते ही होगा ग्रीन

पटना. पटना में कूड़ा-कचरा उठाने का लेखा-जोखा रखने के लिए क्यूआर कोड स्कैन किया जाएगा. निगम मुख्यालय में निगरानी रखने के लिए नियंत्रण कक्ष होगा. घर से कचरा उठाने के तुरंत बाद ही कोड ग्रीन हो जाएगा. होल्डिंग टैक्स जमा करने वाले पटना के तीन लाख घरों के दरवाजों पर क्यूआर कोड लगेगा. क्यूआर कोड लगाने की जिम्मेदारी फरीदाबाद की कंपनी को दी गई है.

कंपनी इसी सप्ताह से अपना काम शुरू करेगा, इसी के साथ पांच साल तक क्यूआर कोड में किसी भी तरह की समस्याएं आती हैं तो जिम्मेदारी कंपनी की होगी. दिसंबर तक सभी जगह क्यूआर कोड लगाने की प्रक्रियाओं को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड की इंटेलिजेंस सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट परियोजना के संचालन और प्रबंधन का काम 12 करोड़ में पूरा किया जाएगा.  

पटना एयरपोर्ट बना रहा रिकॉर्ड, एक दिन में 10 हजार यात्रियों की हुई आवाजाही

पटना नगर निगम में सभी होल्डिंग पर क्यूआर कोड लगाया जाएगा. इससे घर से कचरा उठाए जाने की जानकारी ऑनलाइन ली जा सकेगी. इसके लिए डोर टू डोर सेवा में काम करने वाले निगम कर्मियों को स्मार्ट फोन दिए जाएंगे. इसी के साथ क्यूआर कोड रीडर, घरों की जियो टैगिंग, कचरा गाड़ियों पर चिप लगेगी और कचरा उठाते ही क्यूआर कोड ग्रीन हो जाएगा. 

बिहार बोर्ड एग्जाम 2021, इंटर परीक्षा फॉर्म भरने की लास्ट डेट 25 सितंबर हुई

वहीं डोर-टू-डोर कचरा उठाने वाली गाड़ियां अपने निर्धारित रूट के अलावा कहीं नहीं जाएंगी और गाड़ी में किसी तरह की खराबी आती है तो दूसरी गाड़ी को उसकी जगह भेजा जाएगा. इसी के साथ मकान मालिकों भी कोई शिकायत दर्ज करने के लिए ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें