पटना: मेट्रो रूट के 20 मीटर फासले पर निर्माण से पहले NOC लेना जरूरी

Smart News Team, Last updated: 19/08/2020 04:13 PM IST
  • पटना मेट्रो अगले कुछ सालों में तैयार हो जाएगा. इसका निर्माण कार्य जारी है. इसके कॉरिडोर के 20 मीटर फासले पर किसी और भवन के निर्माण से पहले एनओसी लेना अनिवार्य कर दिया है. पूरी जांच के बाद ही आस-पास के इलाके में भवन निर्माण की स्वीकृति दी जाएगी.
पटना: मेट्रो रूट के 20 मीटर फासले पर निर्माण से पहले NOC लेना जरूरी

पटना. राजधानी में अगले कुछ सालों में मेट्रो शुरू की जाएगी. इस मेट्रो का निर्माण कार्य जारी है. मेट्रो के लिए बनने वाले कॉरिडोर में से पटना जंक्शन और खेमनीचक में दो कॉरिडोर का इंटरचेंज बनेगा. इसके लिए पटना जंक्शन पर दोनों कॉरीडोर के स्टेशन अंडरग्राउंड अगल-बगल बनेंगे. इसी इलाके में मेट्रो निर्माण कार्य के आस-पास के 20 मीटर के फासले पर किसी और भवन के निर्माण के लिए एनओसी लेना अनिवार्य कर दिया है. 

मेट्रो के कॉरिडोर का निर्माण 60 प्रतिशत अंडरग्राउंड होगा. कॉरिडोर के दोनों तरफ 20-20 मीटर की दूरी में किसी भवन के निर्माण से समस्या आ सकती है. दरअसल, आईएसबीटी के पास स्टाफ क्वार्टर और कमर्शियल कॉम्पलेक्स विकसित करते के लिए 10 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जाएगी. इसलिये नये निर्माण के लिये पीएमआरसीएल से एनओसी लेने का निर्णय किया गया है. अधिक गहराई तक पाइलिंग होने वाले भवनों के निर्माण को अनुमति देने से पहले पूरी जांच की जाएगी. इसके अलावा नये सिरे से सिवरेज-ड्रेनेज निर्माण के लिये भी एनओसी लेनी पड़ेगी. 

पटना: फिर रुकी 30 हजार शिक्षकों की नियुक्ति, शिक्षा विभाग ने अधिसूचना की जारी

पटना मेट्रो के लिए पहला कॉरिडोर दानापुर केन्द्रीय विद्यालय के समीप से शुरु होगा और पटना नहर के पहले गोला रोड के पास तक एलिवेटेड होगा. वहां से नेहरु पथ के समानांतर पटना जू- इनकमटेक्स गोलंबर- डाकबंगला गोलंबर- पटना जंक्शन- होते हुए बस अड्डा तक अंडरग्राउंड रहेगा. बस अड्डा के आगे से न्यू बाईपास के समानांतर पहाड़ी जीरो माईल होते आईएसबीटी तक एलिवेटेड बनेगा.

फ्लिपकार्ट और IIT पटना के बीच करार, एप्लायड रिसर्च को देंगे बढ़ावा

दूसरा कॉरिडोर पटना जंक्शन से आकाशवाणी- ज्ञान भवन- कारगिल चौक- पीएमसीएच होते हुए साइंस कॉलेज के पहले दक्षिण की तरफ घूमते हुए राजेन्द्रनगर स्टेशन- मलाही पकड़ी चौक तक अंडर ग्राउंड बनेगा. मलाही पकड़ी चौक से खेमनीचक- न्यू बाईपास के समानांतर पहाड़ी जीरो माईल होते आईएसबीटी तक एलिवेटेड बनेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें