नीतीश के मंत्रिमंडल का अभी तक नहीं हुआ विस्तार, क्या BJP-JDU में है आंतरिक कलह!

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 02:26 PM IST
बिहार चुनाव के बाद नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए के मंत्रिमंडल का अभी तक विस्तार नहीं हुआ है. इसको लेकर राजनीतिक अटकलें लगाई जा रही हैं. लोगों के अनुसार मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे के लिए भाजपा और जेडीयू में तालमेल नहीं बैठ पा रहा है.
बिहार में एनडीए जीत के बाद भी अभी तक मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हो पाया है.

पटना. बिहार चुनाव के बाद एनडीए की जीत को एक महीना पूरा होने जा रहा है लेकिन अभी तक मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं होने से इस पर राजनीति तेज हो गई है. कहा जा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर एनडीए के दोनों प्रमुख घटक दल जदयू और भाजपा के बीच विभागों को लेकर सामंजस्य नहीं बन पा रहा है.

जबकि लोगों का कहना है कि जदयू मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अपनी रुचि नहीं दिखा रहा है. चूंकि मौजूदा विधानसभा में भाजपा के पास 74 और जदयू के पास 43 विधायक हैं. ऐसे में इस मंत्रिमंडल विस्तार में भाजपा के अधिक विधायक मंत्री बनेंगे. मंत्री नहीं बनने वाले JDU विधायक नाराजगी जाहिर कर सकते हैं इसलिए जदयू इससे बचने की कोशिश कर रहा है.

बिहार: सभी थानों की होगी अपनी जमीन, नीतीश सरकार ने DM-SP को जमीन तलाशने का दिया आदेश

गौरतलब है कि राष्ट्रीय पार्टी को कैबिनेट में अधिक हिस्सेदारी मिलना तय है. अधिकतम 36 मंत्रियों में से जदयू के कोटे से 14 तो भाजपा से 18 से 20 विधायकों को मंत्री बनाया जा सकता है. इसके अलावा उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, अशोक चौधरी जैसे वरिष्ठ मंत्रियों के पास 5-5 मंत्रालयों का भार है. साथ ही कई ऐसे मंत्री भी हैं जिनके पास दो से तीन मंत्रालय है.

एनडीए सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल विस्तार 17वीं विधानसभा के पहले सत्र के समापन के बाद होने वाला था जो नवंबर के अंतिम सप्ताह में आयोजित किया गया था. अब संभावित तौर पर मंत्रिमंडल विस्तार पर कुछ महत्वपूर्ण निर्णय 27 दिसंबर को जदयू की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में लिए जा सकता हैं.

कोरोना वैक्सीन तीसरे चरण का ट्रायल, पटना में 5 दिन में मिले केवल 40 वालंटियर्स

इसके अलावा राजनीतिक जानकारों का कहना है कि यदि 15 दिसंबर तक कैबिनेट विस्तार नहीं होता है तो यह जनवरी के मध्य में किया जाएगा क्योंकि खरमास की अवधि यानी 14 जनवरी तक ज्योतिषी मान्यता के अनुसार कुछ भी नया करने के लिए शुभ नहीं माना जाता है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने बताया कि बिहार में कैबिनेट का विस्तार सही समय पर होगा. इसे लेकर जदयू और भाजपा के बीच मीडिया में जो मनमुटाव की खबरें चल रहीं हैं, वे सभी बेबुनियाद हैं.इसके अतिरिक्त जदयू के प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन ने भी कहा कि कैबिनेट विस्तार सही समय पर होगा. हर किसी को इसके बारे में पता चल जाएगा.साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मंत्रिमंडल का विस्तार मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है. यह एनडीए के स्तर पर निर्णय लिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें