शारीरिक अनुदेशकों को नीतीश सरकार की सौगात ,अब इतने अनुदेशकों मिलेगा 8000 मानदेय

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 18th Dec 2021, 9:26 AM IST
  • बिहार की नीतीश सरकार राज्य के प्रारंभिक विद्यालयों में तैनात शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशकों को 8 हजार रुपये मानदेय देने जा रही है. सरकार ने प्रति सालाना 200 रुपये की वेतनवृद्धि देने की भी बात कही है.
शारिरिक अनुदेशकों को नीतीश सरकार की सौगात ,अब इतने अनुदेशकों मिलेगा 8000 मानदेय

पटना. बिहार की नीतीश सरकार ने शारीरिक अनुदेशकों को बड़ी सौगात देने का फैसला लिया है. नीतीश सरकार राज्य के प्रारंभिक विद्यालयो. में तैनात शिक्षा अनुदेशक के 8000 पदों पर नियुक्ति के लिए शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को अधिसूचना जारी कर दी है. इसके तहत अनुदेशकों की बहाली 8000 रुपये नियत मानदेय पर होगी जो हर साल 200 रुपये सालाना की वृद्धि से बढ़ेगा.

आरक्षण रोस्टर क्लियरेंस होने के बाद जारी होगा शेड्यूल

शिक्षा विभाग के उपसचिव अरशद फिरोज ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है. अधिसूचना के अनुसार, नियुक्ति की गाइडलाइन जारी कर दी गई है. जल्द ही इन पदों पर आरक्षण रोस्टर क्लियरेंस होने के बाद ही नियुक्ति का शेड्यूल जारी किया जाएगा.

सड़क पर लोगों से मिलते तेजस्‍वी और राजश्री का फोटो वायरल, लोग कर रहे तारीफ

आटीआई के तहत एडमिशन वाले स्कूलों में स्वास्थ्य अनुदेशक की होगी बहाली

जानकारी, अनुसार, जिन विद्यालयों में 100 से अधिक छात्र ऐसे हैं जिनका एडमिशन आरटीई के तहत हुआ है, वहां शारीरिक शिक्षा सह स्वास्थ्य अनुदेशक की बहाली की जाएगी. इसको लेकर 8386 राजकीयकृत प्रारंभिक स्कूलों में एक-एक अनुदेशक के पद से 22 अक्टूबर 2021 के आदेश से होगी.

बिहार के प्राइमरी स्कूलों में 3523 फिजिकल टीचर्स की होगी बहाली, विभाग से मिली मंजूरी

शिक्षा विभाग तय करेगा समय सारणी

जानकारी अनुसार, नियुक्ति के संबंध में समय सारणी व कैलेंडर प्राथमिक शिक्षा निदेशालय तैयार किया जाएगा. डीईओ नियोजन इकाई को पर आवंटित करते हुए डीएम से आरक्षण रोस्टर क्लियर कराकर नियोजन इकाई को कोटिवार रिक्त की सूचना देंगे.

बता दें कि जब सरकार नियुक्ति और मानदेय को लेकर दावे कर रही है, वहीं नियुक्ति के लिए दिंसबर 2019 को बीएसईबी की योग्यता परीक्षा में पास हुए 3523 अभ्यर्थी अभी तक यानी पिछले 2 साल से अपनी नियुक्ति की बाट जोह रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें