बिहार: नीतीश सरकार की इस योजना से लड़कियों को हर महीने मिलेंगे 12 हजार रुपये

Shubham Bajpai, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 2:48 PM IST
  • बिहार में नीतीश सरकार बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से उनको केक पेस्ट्री बनाने की ट्रेनिंग दिलाने जा रही है. अभी इस योजना के तहत करीब 70 लड़कियों का सिलेक्शन हुआ है. इन लड़कियों को सरकार केक पेस्ट्री की कंपनी में ट्रेनिंग दिलवाएगी. इनको इंटर्नशिप के तौर पर प्रति माह 12000 रुपये भी मिलेंगे.
नीतीश सरकार की इस योजना से इन लड़कियों को होगा फायदा, हर महीने मिलेंगे 12 हजार

पटना. बिहार सरकार लड़कियों को अब ट्रेनिंग के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाने की योजना शुरू करने जा रही है. इस योजना के तहत सरकार कंपनी के साथ मिलकर लड़कियों को केक पेस्ट्री बनाने की ट्रेनिंग देगी. जिससे वो आने वाले समय में खुद इस काम को करके स्वरोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर हो सकें. अभी सरकार कंपनी के साथ समझौता की प्रक्रिया कर रही है जल्द ही पहले चरण में लड़कियों को ट्रेनिंग दी जाएगी. इस दौरान उन्हें 12 हजार रुपये प्रति माह की राशि भी दी जाएगी. ये योजना समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित की जा रही है.

शुरुआत में 70 लड़कियों को दी जाएगी ट्रेनिंग

समाज कल्याण विभाग शुरुआत में कम पढ़ी लिखी 70 लड़कियों को ट्रेनिंग देगी. इसके लिए उनको तकनीकी ज्ञान देने के लिए सरकार प्राइवेट कंपनी द्वारा समझौता कर रही है. ये कंपनी इन लड़कियों को 6 महीने की ट्रेनिंग देगी. जिसमें उनको केक और पेस्ट्री बनाने का तकनीकी ज्ञान देगी. इसकी शुरुआत 15 दिसंबर से की जाएगी.

बिहार में युवक का कराया गया पकड़ुवा विवाह, पीड़ित ने पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाई

विभाग लड़कियों को अधिकारियों से जुड़े रहने के लिए मुहैया कराएगा फोन

इन योजना के तहत सिलेक्ट लड़कियों को विभाग मोबाइल फोन भी उपलब्ध करवाया. ताकि उनको ट्रेनिंग की दौरान कोई भी जरूरत होने पर वो आसानी से विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर लें. इस दौरान इन लड़कियों की पूर्व में ट्रेनिंग पा चुकी लड़कियों से भी मुलाकात करवाई जाएगी, ताकि इन लड़कियों के साथ पुरानी लड़कियां अपने अनुभव साझा कर सकें।

परेशान हुए बिना घर बैठे बुजुर्ग बनवाएं डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट, जानें कितनी कीमत चुकाएं

दो साल तक होगी लड़कियों की मॉनिटरिंग

इस योजना में सिलेक्ट लड़कियों की ट्रेनिंग के बाद 2 साल तक विभाग की ओर से मॉनिटरिंग की जाएगी ताकि ये देखा जा सके कि इन्होंने जो सीखा है उसका इस्तेमाल कर सकें. साथ ही इन लड़कियों में प्रति 5 के ग्रुप पर एक महिला अधिकारी तैनात की जाएगी. जो इनसे रोज अपडेट लेती रहे. इन दौरान एक महीने में अधिकारी से मुलाकात के सा वो लड़कियों से वीडियो कॉल के जरिए भी बैठक कर सकती है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें